News

सरकारी गल्ला दुकान पर नहीं महंगा होगा अनाज

सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से मिलने वाले खाद्दान्न के भाव एक साल तक स्थिर रहेंगे। केंद्रीय खाद्द मंत्री रामविलास पासवान ने जानकारी दी कि प्रधानमंत्री ने चावल, गेहूँ के भाव एक साल और स्थिर रहने की मंजूरी दे दी है। उल्लेखनीय है कि यह कदम गरीब परिवारों को ध्यान में रखते हुए उठाया गया है।

देश में पांच लाख राशन की दुकानों से 81 करोड़ लोगों को प्रति महीने पांच किलोग्राम राशन दिया जा रहा है। इस बीच सरकार लगभग 1.4 लाख करोड़ रुपए वहन करती है। आप को बता दें कि राष्ट्रीय खाद्द सुरक्षा अधिनियम के जरिए, सरकारी राशन की दुकानों पर चावल तीन रुपए प्रति किलो, गेहूँ दो रुपए प्रति किलो तथा मोटा अनाज एक रुपए प्रति किलो मिलता है।



Share your comments