1. ख़बरें

गोबर से पेपर बैग बनाकर कमाएं मुनाफा

रोजगार की तलाश कर रहे लोग गाय के गोबर से कागज बनाकर अच्छा पैसा कमा सकते हैं. कागज को बनाने के लिए गोबर के साथ कागज के ही चिथड़ों का भी उपयोग किया जाता है. गाय के गोबर से कम लागत में पेपर बनाने की विधि नेशनल हैंडमेड पेपर इंस्टीट्यूट ने इजाद की है.

लोगों को मिलेगा रोजगार

इस योजना से जुड़ने के बाद लोग आप प्‍लांट लगाने के लिए के लिए लोन और सब्सिडी पा सकेंगे. विशेषज्ञों की माने तो 5 लाख से लेकर 25 लाख तक में  प्‍लांट लगाए जा सकते हैं. इन कागजों को हैंडमेड तरीकों से तैयार किया जाएगा, ऐसे में हर प्लांट में 10 से 12 लोगों को रोजगार मिलने की संभावना है.

पशुपालकों को होगा फायदा

इस स्कीम से एक तरफ जहां किसानों  की आय बढ़ेगी, वहां पशुपालकों को भी फायदा होगा. कागज बढ़ाने के लिए गोबर की जरूरत पड़ेगी, ऐसे में पशुपालकों को अपने मवेशियों से रोजाना अतिरिक्त कमाई हो जाएगी.

कर्जा भी देगी सरकार

इस प्लांट को लगाने के लिए सरकार कर्जा भी देगी. इस बिजनेस से पर्यावरण को लाभ होगा, इसलिए इसके इस काम को शुरू करने में कानूनी रूप से अधिक परेशानी नहीं होगी. एक प्लांट से एक माह में 1 लाख तक के कागज के बैग बनाए जा सकते हैं.

मांग

इस पेपर की क्‍वालिटी भी बहुत अच्‍छी होगी एवं इसको कैरी बैग के रूप में इस्तेमाल किया जा सकेगा. आपको पता ही है कि मोदी सरकार प्‍लास्‍टिक बैन करने की तैयारी में है. अभी हाल ही में भारत सरकार ने सिंगल यूज प्लास्टिक को प्रतिबंधित करने का फैसला लिया था, ऐसे में पेपर के कैरी बैग्स की मांग बढ़ने वाली है.

(आपको हमारी खबर कैसी लगी? इस बारे में अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरूर दें. इसी तरह अगर आप पशुपालन, किसानी, सरकारी योजनाओं आदि के बारे में जानकारी चाहते हैं, तो वो भी बताएं. आपके हर संभव सवाल का जवाब कृषि जागरण देने की कोशिश करेगा)

English Summary: government give subsidy and loan on cow dung carry paper bag business know more about it

Like this article?

Hey! I am सिप्पू कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News