1. ख़बरें

छोटे और मझोले किसानों के लिए खुशखबरी, योगी सरकार 25 करोड़ की लागत से बना रही हाट और बाजार

CM Yogi Adityanath

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार किसानों को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में एक और बड़ा कदम बढ़ा दिया है. दरअसल यूपी के किसानों को अब अपनी फसल बेचने के लिए शहर के बाजार तक नहीं जाना होगा. योगी सरकार इसके लिए किसानों के गांव के पास ही हाट और बाजार उपलब्ध कराने जा रही है.

राज्य सरकार के निर्देश पर मण्डी परिषद प्रदेश भर में 52 ग्रामीण हाट और बाजार तैयार कर रहा है. इनमें प्रयागराज, वाराणसी, गोरखपुर, कानपुर देहात, आगरा, मेरठ, मुजफ्फरनगर, लखनऊ, गोंडा जिले शामिल हैं. गौरतलब है कि 25 करोड़ की लागत से बन रहे इन ग्रामीण बाजारों में किसानों की जरूरत की हर सुविधा मुहैया कराई जाएगी.

किसानों के समय की होगी बचत

योजना के अनुसार, किसान अपने खेतों की पैदावार को गांव के पास में ही उपलब्ध हाट, बाजार में उचित कीमत में बेंच सकेंगे. इसके अतिरिक्त किसान इन बाजारों से अपनी रोज़मर्रा के जरूरत की चीजें भी खरीद सकेंगे. गांव के पास बाजार उपलब्ध हो जाने से किसानों को दूर की मंडी तक अपने उत्पाद ले जाने का खर्च भी काफी कम हो जाएगा. ग्रामीण बाजार मिल जाने से किसानों के समय की बचत भी हो सकेगी.

किसान इन बाजारों में बेच सकेंगे अपनी सभी उपज

किसान इन बाजारों में सब्जी, अनाज और फल समेत सभी तरह की फसल बेच सकेंगे. ग्रामीण क्षेत्रों में तैयार हो रहे इन बाजारों में बारिश और धूप से बचाव की सुविधा के साथ पेय जल, शौचालय, सड़क और अन्य जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी. सरकार स्थानीय अधिकारियों के स्तर से किसानों को मिल रही सुविधाओं की निगरानी करेगी.

कुछ महीनों में संचालन होगा शुरू

खबरों के मुताबिक मण्डी परिषद ने ग्रामीण बाजारों पर भी काम करना शुरू कर दिया है. अगले कुछ महीनों के भीतर ही इन बाजारों का संचालन राज्य सरकार शुरू कर देगी. गौरतलब है कि योगी सरकार की इस योजना को छोटे और मझोले किसानों के लिए आत्मनिर्भरता का बूस्टर डोज माना जा रहा है.

English Summary: ​​​​​​​Good news for small and medium farmers, Yogi government is building haats and markets at a cost of 25 crores

Like this article?

Hey! I am विवेक कुमार राय. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News