1. ख़बरें

Food Corporation of India: एफसीआई से अनाज खरीदना हुआ आसान, टेंडर प्रक्रिया हुई खत्म

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

देश में कोरोना महामारी और लॉकडाउन की मार सभी लोग झेल रहे हैं. इस दौरान केंद्रीय खाद्य मंत्रालय (Union Food Ministry) के तहत भारतीय खाद्य निगम (Food Corporation of India) ने एक अहम फैसला किया है.  दरअसल, अब अनाज खरीदना आसान कर दिया गया है. एफसीआई (FCI) ने टेंडर प्रक्रिया खत्म कर दी ही. इस कड़ी में सरकार ने भी गेहूं का भाव 21 रुपए और चावल का भाव 22 रुपए प्रति किलो तय कर दिया है. यह फैसला लेने की वजह है कि खुले बाजार में आसानी से खाद्यान्न की आपूर्ति की जा सके.

टेंडर प्रक्रिया खत्म होने से लाभ

अब भारतीय खाद्य निगम (FCI) से अनाज खरीदना सरल हो गया है. इस फैसले के बाद एफसीआई के गोदामों से कोई भी संस्था और बड़ा उपभोक्ता आसानी से गेहूं या चावल खरीद सकता है. इस फैसला का उद्देश्य है कि अब देश में हर जगह अनाज की सप्लाई हो पाएगी. जब टेंडर प्रक्रिया लागू थी, तब कई शर्तो के तहत अनाज खरीदा जाता है, जिसमें अनाज की सप्लाई में काफी विलंब होता था. सरकार के इस फैसले के बाद अनास खरीदना सरल और सहज हो गया है. खास बात है कि अनाज की ढुलाई का काम रेलवे की ओर से पूरा किया जाएगा. 

आपको बता दें कि कोरोना और लॉकडाउन के चलते खाद्यान्न की मांग बढ़ गई है, इसलिए सरकार द्वारा यह फैसला लिया गया है. सरकार का पूरा प्रयास है कि इस वक्त देश की किसी भी कोने में अनाज की कोई कमी नहीं होनी चाहिए. माना जाए, तो सरकार के इस फैसले के बाद एक हद तक महंगाई से निपटने में भी मदद मिलेगी. बता दें कि देश के करोड़ों लोगों को अनाज सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत दिया जा रहा है. इस फैसले का असर अति सस्ते अनाज की योजना पर नहीं पड़ेगा.

ये खबर भी पढ़ें: Kisan Credit Card: केवल एक पेज का फॉर्म भरकर बनवाएं किसान क्रेडिट कार्ड, फॉर्म यहां से करें डाउनलोड

English Summary: Food Corporation of India finishes tender process

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News