1. ख़बरें

केंद्रीय कृषि मंत्री कैलाश चौधरी के प्रयासों से 62 करोड़ रुपये की वित्तीय स्वीकृति हुई जारी

Kailash Chaudhary

केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री एवं स्थानीय सांसद कैलाश चौधरी के प्रयासों से संसदीय क्षेत्र बाड़मेर जैसलमेर के विभिन्न इलाकों में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत 592 किलोमीटर लंबी 120 सड़कों के लिए 62 करोड़ रुपये की वित्तीय एवं प्रशासनिक स्वीकृति प्रदान कर दी गई है. 

केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने इसके लिए ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त करते हुए बताया कि इन सड़कों के निर्माण से ग्रामीण क्षेत्रों में परिवहन की दृष्टि से सुविधा एवं सुगमता होगी.

पर्यटन और रोजगार को मिलेगा बढ़ावा

केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि देशभर में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत गांव-ढाणियों को सड़क मार्ग से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है. प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत संसदीय क्षेत्र बाड़मेर जैसलमेर में स्वीकृत इन सड़कों का निर्माण होने से सीमावर्ती क्षेत्र के आमजन को सुविधा मिलेगी. इससे पर्यटन और रोजगार को भी बढ़ावा मिलेगा. केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का आभार जताते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना द्वारा सड़कों की सुविधा से वंचित गांव ढाणियों को सड़क मार्ग से जोड़ने का लाभ ग्रामीणों को मिलेगा. इससे सड़कों से वंचित गांवों और ढाणियों में भी त्वरित परिवहन सुविधाएं मुहैया हो सकेगी.

आवागमन में होगी सुविधा

केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत संसदीय क्षेत्र बाड़मेर जैसलमेर में स्वीकृत की गई 592 किलोमीटर लंबी और 62 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली सड़कों के लिए केंद्र और राज्य सरकार का आभार व्यक्त किया है.

कैलाश चौधरी ने कहा कि इससे गांवों के छोटे किसान शहरों से सीधे जुड़ सकेंगे और अपनी फसल बेच पाएंगे. साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में सड़कों की कमी से लोगों को आवाजाही में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. ऐसे में अब प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत सड़क के बनने से लोगों को आवागमन में भी सुविधा होगी.

Like this article?

Hey! I am विवेक कुमार राय. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News