News

किसानों को समृद्ध बनना होगाः विरेन्द्र सिंह

आने वाला समय किसानों के लिए कई सौगाते लेकर आने वाला है। उत्तर प्रदेश के किसानों के लिए आने वाला कल सुखमय होने वाला है। किसानों के कर्ज मांफ किए जाएंगे व उनकों शून्य प्रतिशत पर कृषि ऋण उपलब्ध कराया जाएगा। यह कहना है किसान मोर्चा संघ के अध्यक्ष व भाजपा सांसद विरेन्द्र सिंह (मस्त) का। विरेन्द्र सिंह उत्तर प्रदेश के भदोही जिला के वर्तमान सांसद है।

कृषि जागरण से बात करते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार किसानों के लिए काफी चिंतित है व उनके लिए कई योजनाएं चलाई गई है जिनका असर धीरे-धीरे दिखने लगा है,जल्द ही गन्ना किसानों का बकाया उन्हें दिया जाएगा। खेतों को सड़को से जोड़ने का भी काम बड़े पैमाने पर किया जा रहा है जिससे किसान अपने उत्पाद को सीधे मंडियों पर ले जा सकेंगे। उन्होंने कहा कि किसानों को गोबर की खाद पर 1500 रूपये की सब्सिडी दी जा रही है। कृषि में महिलाओं की भागीदारी पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि खेती किसानी के कामों में महिलाओं की भागीदारी खूब है बस हमें देखने का नजरिया चाहिए। महिलाएं खेतों में प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से काम कर रही हैं। किसानों के सभी अनाज सरकार द्वारा न्यूनतम् समर्थन मुल्य पर खरीदा जाएगा जिससे किसानों का बिचौलियों से शोषण नहीं होगा। उन्होंने किसानों का समर्थन करते हुए कहा कि किसान ही भारत के वास्तविक शिल्पकार है। देश की समृद्धि का रास्ता खेतों और खलिहानों से होकर जाता है। राम मनोहर लोहिया को याद करते हुए विरेन्द्र सिंह जी ने कहा कि लोहिया जी भी किसानों के पक्षधर थे, वो कहा करते थे जिस तरह कारखानों के उत्पाद की कीमत उद्योगपतियों द्वारा तय की जाती है ठीक उसी प्रकार खलिहानों के उत्पाद की कीमत भी किसानों द्वारा ही तय की जानी चाहिए।

विरेन्द्र सिंह ने किसानों के आर्थिक सुझार पर जोर देते हुए कहा कि जब खेती के उत्पाद तो किसान अपने मन मुताबिक बेच सकेगा तो वह आर्थिक, राजनैतिक, पारिवारिक,सांस्कृतिक व सामाजिक रूप से मजबूत हो सकेगा। जिस तरह से राज्य सभा में फिल्म, खेल व कानून के क्षेत्र से प्रतिनिधि चुन कर आते हैं उसी तरह किसान को भी राजनीति में प्रवेश करना चाहिए जिससे की वो कृषि की मूलभूत आवश्यकता व समस्या को सदन में उठा सके।



English Summary: Farmers must become rich: Virendra Singh

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in