News

किसान आत्म हत्या कर रहे है और सरकार मंदिरों के दर्शन

कर्नाटक के एक किसान नंदिश  ने अपने परिवार समेत आत्महत्या कर ली |इसके पीछे वजह यह बताई जा रही है की नंदिश ने 6 लाख का कृषि लोन लिया था जो कि फसल ख़राब होने की वजह से वह चुका नहीं पाया |

अब इस पर राजनीति शुरू हो गई है बीजेपी नेता येदियुरप्पा  ने मुख्यमंत्री कुमारस्वामी पर आरोप  लगाते  हुए  कहा  की किसानों को त्रण माफ़ करने की योजना मात्र एक दिखावा थी |अगर ऐसे होता तो आज नंदिश और उसका परिवार जीवित होता | कुमारस्वामी तो सिर्फ मंदिरों के दर्शनों में ही व्यस्त है |

नंदिश ने मरने से पूर्व एक पत्र लिखा है जिस में उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री जी आप से मिलने के बावजूद भी मेरी समस्या का समाधान होता नहीं दिख रहा इसलिए में आत्महत्या कर रहा हूँ 

कर्नाटक के पिछले 5 सालों में कुल 3500  किसानों ने आत्महत्या की है  | कुमारस्वामी ने किसानों का 34  हज़ार करोड़ का त्रण माफ़ करने कि घोषणा तो कि पर इस पर अभी तक अमल नहीं हो पाया | क्योंकि बातचीत अभी तक सरकार और  बैंक कि ब्याज पर  अटकी  पड़ी है क्योंकि सरकार 4 सालों में त्रण उतारना चाहती पर बिना ब्याज के पर इस पर बैंक राजी नहीं है

 महाराष्ट्र और कर्नाटक में सबसे ज्यादा किसान आत्महत्या कर रहे है सरकारे बदल रही है पर आत्महत्याओं का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा | अगर ऐसा ही चलता रहा तो वो दिन दूर नहीं जिस दिन अन्नदाता ही नहीं रहेगा |



English Summary: Farmers are killing themselves and the government is visiting the temples

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in