MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

रबी फसलों पर सरकार किसानों को दे रही है अनुदान, पढ़ें पूरी खबर

खेती-बाड़ी को लगातार बढ़ावा देने के लिए सरकार नए-नए कदम उठा रही है. कभी आधुनिक उपकरणों में सब्सिडी देकर उनका मनोबल बढ़ा रही है, तो कभी बीजों में अनुदान देकर उन्हें आर्थिक रूप से संभाल रही है.

प्राची वत्स
Rabi Crops Seed.
Rabi Crops Seed.

खेती-बाड़ी को लगातार बढ़ावा देने के लिए सरकार नए-नए कदम उठा रही है. कभी आधुनिक उपकरणों में सब्सिडी देकर उनका मनोबल बढ़ा रही है, तो कभी बीजों में अनुदान देकर उन्हें आर्थिक रूप से संभाल रही है. आपको बता दें एक बार फिर सरकार किसानों को रबी फसलों के बीज में 50% अनुदान दे रही है.

10192 क्विंटल बीजों का हुआ है आवेदन

रबी फसलों के बीज के लिए बढ़ती मांग को देखते हुए 3500 क्विंटल बीज ब्लॉक स्थित गोदामों पर भेज दिया गया है. ब्लॉकों के राजकीय गोदामों पर बीज पहुंचने लगे हैं. करीबन 3500 क्विंटल गेहूं बीज गाओं में पहुँचाया जा चुका है, जिसका वितरण भी गांव में शुरू हो गया है. किसानों की मदद के लिए विभाग की ओर से बीजों पर 50 % का अनुदान किसानों को दिया जा रहा है. इस अनुदान का लाभ उठाने के लिए आवश्यक है कि आपका पंजीकरण प्रधानमंत्री सम्मान निधि योजना में पहले से हो.

कृषि विभाग को इस बार 18 प्रजाति के 10062 क्विंटल गेहूं बीज का आवंटन मिला है. इसमें सबसे प्रचलित एचडी 2967, 3066, पीबीडब्ल्यू-723 शामिल हैं. वहीं दूसरी और जीएनजी- 2144, 1958, 2171 का चना बीज 15.2 क्विंटल किसानों के बीच वितरण किया जा रहा है. एचएफपी-529 व आईपीएफडी-12-2 प्रजाति का मटर करीब 18 क्विंटल बीज गोदामों पर बिक्री के लिए उपलब्ध है.

केएलएस-0903 सीएस व आईपीएल-316 प्रजाति का 20 क्विंटल मसूर बीज गोदामों पर उपलब्ध है. सरसों उत्तरा, पंत पीली व आरजीएन-298 का बीज भी वितरण  किया जा रहा है. एचयूबी-113 प्रजाति का जौ बीज भी किसानों को दिया जा रहा है. बफर गोदाम प्रभारी ने बताया कि शासन से 10192 क्विंटल बीजों का आवंटन प्राप्त हुआ है. इसके सापेक्ष करीब 3550 क्विंटल बीज जिले में पहुंच चुका है. मौसम की वजह से बीज वितरण में तेजी नहीं आ पा रही है.

अनुदान के लिए दस्तावेज़ ज़रूर साथ लाएं

जिला कृषि अधिकारी मनीष कुमार सिंह ने बताया कि किसान को बीज लेते समय अपने साथ दस्तावेज़ रखना अनिवार्य है. उनका कहना है कि तमाम किसान बीज गोदाम जाते समय दस्तावेज़ साथ लेकर नहीं जाते हैं. इससे वे अनुदान से वंचित हो जाते हैं. किसान खतौनी, आधार कार्ड, बैंक पासबुक व पंजीकरण संख्या लेकर गोदामों पर बीज खरीदने जाएं. इससे उन्हें अनुदान राशि समय से प्राप्त हो जाएगी.

इस लिए अधिकारीयों ने सभी किसानों को विशेष रूप से सूचित करते हुए कहा की अपने दस्तावेजों को लाना न भूलें अन्यथा इसके लाभ से वंचित रह सकते हैं.

English Summary: Farmers are getting subsidy on the seeds of Rabi crops, how can they take profits Published on: 27 October 2021, 10:00 AM IST

Like this article?

Hey! I am प्राची वत्स. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News