पराली से बनाई जाएगी बिजली...

 

दिल्ली के पड़ोसी राज्यों में लगातार पराली जलाने के फलस्वरूप उत्पन्न समस्याओं के निदान हेतु कई बड़े फैसले लिए जा रहें हैं। जहां एक तरफ नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने पराली जलाने के लिए राज्य सरकारों को किसानों के मध्य जागरुकता फैलाने के निर्देश दिया गया। तो वहीं पराली प्रबंधन के लिए अपनी अलग-अलग राय प्रस्तुत कर रहें हैं। इस बीच केंद्र ने एनटीपीसी को सुझाव दिया है कि खेत से फसल अवशेष को खरीद कर बिजली बनाने में उपयोग किया जाए।

नोट : किसान भाइयों कृषि क्षेत्र की सर्वाधिक पढ़ी जाने वाली पत्रिका कृषि जागरण को आप ऑनलाइन भी सब्सक्राइब कर सकतें है. सदस्यता लेने के लिए क्लिक करें...

यह सुझाव सीएसई द्वारा किए गए अध्ययन के फलस्वरूप लिया गया ताकि फसल अवशेष का इस्तेमाल कर इसके जलाने की परंपरा पर काबू किया जा सके। सिंह के मुताबिक किसान एक एकड़ के मध्य किसान 11000 रुपए तक कमा सकते हैं। साथ ही किसानों के लिए अवशेष के लिए एक नया बाजार स्थापित हो सकेगा।

सम्बंधित ख़बरें...

हरियाणा सरकार धान की कटाई को जोड़ेगी मनरेगा से...

पराली प्रबंधन के लिए राज्य सरकारों को दिशा निर्देश…

पराली न जलाने वाले गांवों को मिलेगा 50 हजार का इनाम

पराली जलाने से अच्छा है, आप ये तरीका अपनाएं...

सुप्रीम कोर्ट में होगी पराली जलाने की समस्या की सुनवाई

221 किसानों पर पराली जलाने का आरोप, दर्ज हुई FIR

Comments