खीरे की खेती में 1 लाख लगाकर कमाए 8 लाख

सब लोगों का सपना होता है कि छोटी से इनवेसमेंट करके मोटी रकम कमाई जाए. आमतौर पर लोग बिभिन्न प्रकार के विजनेस करके मोटी रकम कमा रहे है. यदि आप किसान है तो आपको खेती में कम लागत लगाकर मोटी रकम कमा सकते है. इसके लिए बस आपको अपने खेत में खीरे कि खेती करनी होगी. इसीलिए आज हम आपको ऐसे व्यक्ति के बारे में बताने जा रहे है जो खीरे कि खेती कर अच्छी रकम कमाई है.

रसीदपुरा के किसान दुर्गाप्रसाद ओला ने खेती में मुनाफा कमाने के लिए अपने खेतों में खीरे की बुआई की और मात्र 4 महीने में 8 लाख रुपए कमाए है. इनहोने अपने खेतो में नीदरलैंड के खीरे कि बुआई की थी. अगर दुर्गा प्रसाद कि माने तो नीदरलैंड से इस प्रजाती खीरे के बीज मागवाकर बुआई करने वाले पहले किसान है. अहम बात यह कि इस प्रजाती के खीरो मे बीज नहीं होते है. जिसकी वजह से खीरे कि मांग  बड़े-बड़े होटलों और रेस्त्रां खूब रहती है. दुर्गाप्रसाद बताते है कि वें उद्यान विभाग से 18 लाख रुपए की सब्सिडी लेकर खेत में ही सेडनेट हाउस बनवाया था। सब्सिडी लेने के बाद भी खुद से 6 लाख रुपए खर्च करने पड़े थे. इसके आलवा उन्होंने नीदरलैंड से 72 हजार रुपए के बीज मंगवाए. बीज बोने के 4 महीने बाद उन्होंने 8 लाख रुपए के खीरे बेचे.

दूसरी तरफ़ कारोबारी बताते है कि मंडी मे ऐसा खीरा पहली बार आया है जिसमे बीज नही पाये जाते है. खीरे के इसी ख़ासियत के वजह से ही इसकी कीमत आम खीरो के मुक़ाबले दो गुनी तक होती है. जहां देसी खीरा 20 रुपए प्रति किलो के  हिसाब से बिक रहा है वहीं नीदरलैंड के बीज वाला यह खीरा 40 से 45 रुपए प्रति किलो के हिसाब से बिक रहा है.

प्रभाकर चौधरी, कृषि जागरण

Comments