देश के बैंकों में पड़ी सड़ रही है डीजल सब्सिडी

डीजल सब्सिडी के लिए 11 फीसदी से ज्यादा राशि बैंकों में पड़ी सड़ रही है,  पर किसानों को इसका कोई फायदा नहीं मिल रहा है. क्योंकि जिन लोगों के बैंक खाते आधार द्वारा लिंक नहीं करवाए गए है वह इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते क्योंकि विभाग के आदेश है कि आधार बेस्ड खाते से ही सब्सिडी का भुगतान किया जाएगा. जिस कारण बिना लिंक खातों की राशि रुकी पड़ी है.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार  डीजल सब्सिडी के लिए बैंकों में 9 करोड़ 22 लाख 23 हजार 613 रुपए से ज्यादा पैसे बैंकों में भेजे गए. इनमें से 1 करोड़ 43 लाख 99 हजार 659 रुपए किसी न किसी कारण से भुगतान नहीं किए गए हैं. यदि किसानों की संख्या के आधार पर देखा जाए तो 69 हज़ार से ज्यादा  आवेदन को स्वीकृत किया गया और इनमें से 11 हज़ार से ज्यादा आवेदन का पैसा बैंकों में पड़ा है.

डीजल सब्सिडी के लिए आवेदन :

डीजल सब्सिडी के लिए बिहार के जिले गया में कुल 1 लाख 17 हजार 948 किसानों ने रजिस्ट्रेशन करवाया. इनमें से 93 हजार 159 किसानों ने सब्सिडी के लिए आवेदन किया. जिला कृषि विभाग के अनुसार जिले में कुल 3 लाख 75 हजार 927 किसान हैं. इनमें से मात्र 33 फीसदी किसानों ने ही रजिस्ट्रेशन करवाया.

मनीशा शर्मा, कृषि जागरण

Comments