आपके फसलों की समस्याओं का समाधान करे
  1. ख़बरें

किसान आंदोलन पर ग्लोबल सेलिब्रिटीज के बयानों से हड़कंप, भारत के कई दिग्गजों ने जताई आपत्ति

सिप्पू कुमार
सिप्पू कुमार

किसान आंदोलन पर ग्लोबल सेलिब्रिटीज के बयानों पर भारत के कई दिग्गजों ने जताई आपत्ति

कृषि कानूनों के खिलाफ हो रहे आंदोलन में ग्लोबल सेलिब्रिटीज की दखलअंदाजी से भारतीय राजनीति में हड़कंप मच गया है. अमेरिकी पॉप स्टार रिहाना, क्लाइमेट चेंज एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग समेत कई बड़े दिग्गजों के बयानों को एक तरफ विदेश मंत्रालय ने गैर जिम्मेदाराना बताया है, तो वहीं क्रिकेट, फिल्म, म्यूजिक, कला और विज्ञान जगत के लोगों ने विदेशियों को आंतरिक मामलों में बोलने पर आपत्ति जताई है.

विदेशियों के खिलाफ भारत एकजुट

गौरतलब है कि किसान आंदोलन पर इस समय सोशल मीडिया में आग लगी हुई है. विदेश मंत्रालय के ट्वीट के बाद भारत सरकार के समर्थन में कई तरह के ट्वीट, जैसे- #IndiaStandsTogether, #IndiaAgainstPropaganda आदि हैशटैग ट्रेंड कर रहे हैं.

बॉलीवुड ने जताई आपत्ति

इस बारे में बॉलीवुड स्टार अक्षय कुमार ने अपने एक ट्वीट में कहा कि किसानों की समस्याओं को सुना जा रहा है, जो लोग दूरियां पैदा कर रहे हैं, उन्हें पहचानने की जरूरत है. अक्षय के इस ट्वीट के बाद अजय देवगन ने भी लिखा कि हमे विदेशी प्रोपेगेंडा का हिस्सा नहीं बनना चाहिए, मुश्किल वक्त में देश का साथ देना चाहिए. उसके बाद तो बॉलीवुड के कई कलाकारों ने एक के बाद एक ताबड़तोड़ ट्वीट किए, जिनमें- एक्टर सुनील शेट्टी, डायरेक्टर करण जौहर और एकता कपूर जैसे लोगों ने भी हिस्सा लिया.

लता मंगेशकर ने भी दिया साथ

किसानों के मुद्दे पर लता मंगेशकर ने भी भारत सरकार का समर्थन करते हुए लिखा कि गौरवशाली राष्ट्र भारत अपनी किसी भी समस्या का हल खुद निकालने में सक्षम है, इसलिए हमें किसी बाहरी बयानबाजी पर ध्यान नहीं देना चाहिए.

सचिन तेंदुलकर ने बताया विदेशी प्रोपेगेंडा

इस मुद्दे पर सचिन तेंदुलकर ने कहा कि लोगों को विदेशी प्रोपेगेंडा से बचने की जरूरत है और हम देश की संप्रभुता से किसी तरह का समझौता नहीं कर सकते. वहीं भारतीय क्रिकेट टीम कप्तान विराट कोहली ने कहा कि हम किसानों के साथ हैं, लेकिन बाहरी लोगों को इसमें नहीं बोलना चाहिए.

English Summary: bollywood cricketers and many more call for unity against India propaganda

Like this article?

Hey! I am सिप्पू कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News