Machinery

Advice to farmers: कृषि यंत्रों को जरूर करें सैनेटाइज़, नहीं तो होगा भारी नुकसान

इस वक्त केंद्र और राज्य सरकार कई प्रयास कर रही हैं, जिससे कृषि क्षेत्र पर कोरोना वायरस का ज्यादा प्रभाव न पड़े. इसके लिए किसानों को कई तरह से जागरुक भी किया जा रहा है. इसकी कड़ी में देहरादून के कृषि विज्ञान केंद्र ढकरानी के वैज्ञानिकों ने किसानों को कई सुझाव दिए हैं. उनका कहना है कि ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि यंत्रों को ज्यादातर साझा किया जाता है, इसलिए अगर कोई किसान कृषि यंत्र को साझा करता है, तो सबसे पहले वह कृषि यंत्र यानी दरांती, जेली, खुरपी, फावड़ा, रस्सी आदि को नीम, साबुन या फिनाइल से धो लें. सबसे अच्छा आप औजार को सैनेटाइज़ कर लें. इसके बाद औजार दो धूप में रख दें. यह सुझाव देश के हर किसान के लिए है. इससे आप कोरोना संकट से बच पाएंगे.

किसानों से अपील

अगर आप सब्जी, दूध समेत अन्य उत्पाद को मंडी या डेयरी में बेचने के लिए जाते हैं, तो सबसे पहले लोगों से दूरी बनाकर रखें. इसके अलावा मास्क जरूर लगाएं, हाथों और उत्पाद को सैनेटाइज़ करें. बता दें कि वैज्ञानिकों ने सलाह दी है कि किसानों और पशुपालकों को सामाजिक दूरी बनाए रखना है. इसके साथ ही कई प्रकार के सामाजिक आयोजनों, मसलन उद्यापन, सवामणि आदि को स्थगित करना है. इसके अलावा किसानों को खेतों में धूप और डिहाइड्रेशन से बचने के लिए सिर ढकने को कहा गया है. किसान अधिक पानी भी पिएं.  

किसानों के लिए सरकार का अहम कदम 

कोरोना वायरस से बचाने के लिए देशभर को लॉकडाउन कर दिया गया है. ऐसे में किसानों की फसलों को नुकसान न पहुंचे, इसलिए फसलों के लिए आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं. इसके लिए दवाइयों और पशुधन के लिए कई व्यवस्थाएं की गई हैं. खासतौर पर किसानों को परेशानी न हो, इसके लिए सरकार से अपील की गई है कि फिलहाल गेहूं, आम, लीची, आड़ू, नाशपाती आदि की फसलों पर दवाइयों का छिड़काव हो, ताकि फसल सुरक्षित बनी रहें. अगर वक्त रहते फसलों पर छिड़कव नहीं हुआ, तो किसानों को भारी नुकसान हो सकता है.

ये खबर भी पढ़ें: PM Kisan Subsidy: किसानों को मिल सकता है दोगुनी सब्सिडी का लाभ



English Summary: sanitize agricultural machinery

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in