MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. मशीनरी

महिंद्रा ने एग्रोविजन नागपुर में सीएनजी ट्रैक्टर किया पेश, किसानों के लिए है बेहद किफायती, फायदे जानकर रह जाएंगे हैरान

महिंद्रा ट्रैक्टर्स ने नागपुर में भारत के प्रतिष्ठित कृषि शिखर सम्मेलन, एग्रोविजन के उद्घाटन दिवस के दौरान अपने YUVO ट्रैक्टर प्लेटफॉर्म पर अपना पहला सीएनजी मोनो ईंधन ट्रैक्टर को पेश किया. कार्यक्रम में भारत सरकार के सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी उपस्थित रहे. कृषि जागरण की इस पोस्ट में जानें महिंद्रा के इस सीएनजी ट्रैक्टर से किसानों को क्या फायदे होने वाला है.

मोहित नागर
महिंद्रा ने पेश किया अपना पहला सीएनजी ट्रैक्टर (प्रतीकात्मक तस्वीर)
महिंद्रा ने पेश किया अपना पहला सीएनजी ट्रैक्टर (प्रतीकात्मक तस्वीर)

भारत के अग्रणी ट्रैक्टर ब्रांड, महिंद्रा ट्रैक्टर्स ने 27 नवंबर को नागपुर में मध्य भारत के प्रतिष्ठित कृषि शिखर सम्मेलन, एग्रोविजन के उद्घाटन दिवस के दौरान अपने अभूतपूर्व सीएनजी मोनो-ईंधन ट्रैक्टर का खुलासा किया. इस कार्यक्रम में भारत सरकार के सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी भी उपस्थित रहे. महिंद्रा ने यहां लोकप्रिय YUVO ट्रैक्टर प्लेटफॉर्म पर अपना पहला सीएनजी मोनो ईंधन ट्रैक्टर को पेश किया है.

आइये कृषि जागरण की इस पोस्ट में जानें महिंद्रा के इस पहले सीएनजी ट्रैक्टर से किसानों को क्या क्या फायदे होने वाले है.

महिंद्रा रिसर्च वैली में तैयार और परीक्षण

महिंद्रा एंड महिंद्रा, सीएनजी वाहनों को विकसित करने के लिए अपने विशाल अनुभव का लाभ उठाते हुए, इष्टतम उत्सर्जन नियंत्रण, प्रदर्शन और परिचालन लागत दक्षता को प्राथमिकता देता है. चेन्नई में महिंद्रा रिसर्च वैली में तैयार और परीक्षण किया गया यह सीएनजी ट्रैक्टर, डीजल के बराबर शक्ति और परफॉर्मेंस का वादा करता है, जो कृषि के लिए वैकल्पिक इंजन प्रौद्योगिकी में नए मानक स्थापित करता है.

उत्सर्जन में 70% की कटौती

महिंद्रा का यह नया सीएनजी ट्रैक्टर, डीजल ट्रैक्टरों की तुलना में उत्सर्जन में लगभग 70% की कटौती करता है. इसके अलावा, इसकी इंजन कंपन कम होने से शोर स्तर में काफी कमी आती है, जो डीजल ट्रैक्टरों की तुलना में 3.5 डेसिबल तक कम है. यह वृद्धि न केवल परिचालन घंटों और इंजन जीवन की सुविधा प्रदान करती है, बल्कि कृषि और गैर-कृषि दोनों अनुप्रयोगों के लिए उन्नत ऑपरेटर आराम भी सुनिश्चित करती है.

ये भी पढ़ें : किसानों की सभी जरूरतों को पूरा करेगा यह मिनी ट्रैक्टर, जानें इसके फीचर्स और कीमत

प्रति घंटे 100 रुपये की बचत

इस ट्रैक्टर की सीएनजी टेक्नोलॉजी इसे पारंपरिक डीजल ट्रैक्टरों की क्षमताओं से मेल खाते हुए विभिन्न कृषि और ढुलाई कार्यों को संभालने में सक्षम बनाती है. महिंद्रा के सीएनजी ट्रैक्टर में 45 लीटर पानी की क्षमता वाले चार टैंक हैं, या 200-बार दबाव पर 24 किलोग्राम गैस की सुविधा के साथ, यह परिचालन दक्षता और सुविधा का वादा करता है. साथ ही, यह डीजल ट्रैक्टरों की तुलना में प्रति घंटे लगभग 100 रुपये की बचत करता है, जिससे यह एक अच्छा और किफायती विकल्प बन जाता है, इससे भारतीय बाजार पर बड़ा प्रभाव पड़ सकता है. महिंद्रा इस नवीन प्रौद्योगिकी के प्रति बाजार की तत्परता और प्रतिक्रिया का सावधानीपूर्वक मूल्यांकन करते हुए, चरणों में सीएनजी ट्रैक्टर लॉन्च करने की योजना बना रही है.

महिंद्रा ट्रैक्टर के बारे में

महिंद्रा लगभग चार दशकों से भारत का नंबर 1 ट्रैक्टर ब्रांड है और वॉल्यूम के हिसाब से दुनिया का सबसे बड़ा ट्रैक्टर निर्माता भी है. सन् 1963 में महिंद्रा ने इंटरनेशनल हार्वेस्टर, इंक., यूएसए के साथ एक संयुक्त उद्यम के माध्यम से अपना पहला ट्रैक्टर लॉन्च किया था. कंपनी मार्च 2019 में वैश्विक बिक्री सहित तीन मिलियन ट्रैक्टर बेचने वाला पहला भारतीय ट्रैक्टर ब्रांड बन गया है.

English Summary: Mahindra introduced its first CNG tractor at Agrovision Nagpur very economical for farmers you surprised to know benefits Published on: 28 November 2023, 03:21 PM IST

Like this article?

Hey! I am मोहित नागर. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News