MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. मशीनरी

Horticulture crops Machinery: बागवानी फसलों की खेती के लिए अपनाएं ये खास मशीनरी

आज के समय में किसानों के लिए मशीनरी (Agriculture Machinery) ने खेती-बाड़ी के काम को बहुत ही ज्यादा सरल कर दिया है. देखा जाए तो इनके बिना खेती करना बेहद मुश्किल है. आज के इस लेख में हम किसान भाइयों के लिए बागवानी फसल (Horticulture Crop) से जुड़ी कुछ बेहतरीन मशीनों की जानकारी लेकर आए हैं, जो आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है.

लोकेश निरवाल
Machinery for Cultivation of Horticultural Crops
Machinery for Cultivation of Horticultural Crops

आधुनिक कृषि में खेती के कार्यों का मशीनीकरण एक आवश्यक इनपुट है. यह मानव परिश्रम और खेती की लागत को कम करने के अलावा उत्पादकता को बढ़ाता है. मशीनीकरण अन्य आदानों की उपयोग दक्षता में सुधार, कृषि श्रमिकों की सुरक्षा और आराम, उपज की गुणवत्ता और मूल्यवर्धन सुधार में भी मदद करता है.

कुशल मशीनरी उत्पादन और उत्पादकता बढ़ाने में मदद करती है, इसके अलावा किसानों को दूसरी फसल या बहु-फसल उगाने में सक्षम बनाती है, जिससे कृषि आकर्षक बनती है. बागवानी फसलों (Horticulture crops) के मशीनीकरण से श्रम पर निर्भरता कम करके इन फसलों के तहत क्षेत्र में सुधार करने में मदद मिल सकती है, जिससे लाभ मार्जिन में वृद्धि होगी और फसल विविधीकरण के लक्ष्य को साकार किया जा सकेगा. पीएयू द्वारा विकसित और मूल्यांकन की गई कुछ कृषि मशीनरी की चर्चा नीचे की गई है, जिन्हें बागवानी फसलों की खेती (Cultivation of Horticulture crops) के लिए अपनाया जा सकता है.

Laser land leveler
Laser land leveler

लेजर लैंड लेवलर(Laser land leveler)

इस मशीन का उपयोग वांछित ग्रेड के साथ सटीक भूमि समतलन के लिए किया जाता है. यह पानी का कुशलतापूर्वक उपयोग करने में मदद करता है, सिंचाई का समय कम करता है और न केवल पानी बल्कि अन्य कृषि इनपुट की प्रति यूनिट उत्पादकता बढ़ाता है. यह 2 मीटर चौड़ा स्वचालित लेवलिंग ऑपरेशन 50 HP या उससे ऊपर के ट्रैक्टर के साथ सफलतापूर्वक किया जा सकता है. यह 25-30% तक पानी बचाता है, रसायनों और उर्वरकों की प्रभावकारिता बढ़ाता है और उत्पादकता में सुधार करता है.

Offset Rotavator
Offset Rotavator

ट्रैक्टर चालित ऑफसेट रोटावेटर (Tractor Drawn Offset Rotavator)

ट्रैक्टर संचालित ऑफसेट रोटावेटर में स्वचालित साइड शिफ्टिंग तंत्र होता है और इसका उपयोग फलों के पेड़ों और कृषि वानिकी क्षेत्रों में अंतर-फसलों के लिए बीज तैयार करने और अंतर-संस्कृति संचालन के लिए किया जाता है. इस रोटावेटर में एक हाइड्रोलिक संचालित साइड शिफ्ट तंत्र जो सक्रिय होता है. पेड़ के तने के स्पर्श से एक फीलर सेंसर सक्रिय हो जाता है. जैसे ही सेंसर पेड़/पौधे के तने को छूता है, हाइड्रोलिक सिस्टम रोटावेटर को ट्रैक्टर के पीछे लाता है और पार करने के बाद, यह फिर से पौधे की पंक्ति में काम करता है. ऑफसेट रोटावेटर को 45 एचपी या उससे ऊपर के किसी भी ट्रैक्टर द्वारा संचालित किया जा सकता है. ऑफसेट रोटावेटर का उपयोग किन्नू, नाशपाती, आड़ू आदि के विभिन्न बगीचों में किया जा सकता है. 98% तक निराई सूचकांक प्राप्त किया जा सकता है. पेड़ के तनों पर घर्षण के कारण पौधों को होने वाली क्षति 1.5- 3.5% तक सीमित थी. मशीन की फील्ड क्षमता 0.50 एकड़ प्रति घंटा है.

Tractor Drawn post hole Digger
Tractor Drawn post hole Digger

ट्रैक्टर चालित पोस्ट होल डिगर (Tractor Drawn post hole Digger)

इस उपकरण का उपयोग 15 से 75 सेमी व्यास और 90 सेमी गहराई तक के आकार के गड्ढे खोदने के लिए किया जाता है. यह मशीन ट्रैक्टर पीटीओ द्वारा गियर बॉक्स के माध्यम से संचालित होती है और ट्रैक्टर के 3-पॉइंट लिंकेज पर लगी होती है. औसत परिस्थितियों में यह प्रति घंटे 60-70 गड्ढे खोदने में सक्षम है.

बेड फॉर्मर-सह-प्लास्टिक मल्चिंग मशीन
बेड फॉर्मर-सह-प्लास्टिक मल्चिंग मशीन

ट्रैक्टर चालित बेड फॉर्मर-सह-प्लास्टिक मल्चिंग मशीन

यह ट्रैक्टर से चलने वाली मशीन है जो एक ही बार में चार ऑपरेशन पूरा करती है यानी बिस्तर बनाना, ड्रिप पाइप बिछाना, गीली घास के रूप में प्लास्टिक शीट बिछाना और नर्सरी की रोपाई के लिए वांछित दूरी पर प्लास्टिक शीट को छेदना.

इसे चलाने के लिए 45-50 एचपी ट्रैक्टर की आवश्यकता होती है. मशीन की फील्ड क्षमता 0.6 एकड़ प्रति घंटा है. मशीन मैनुअल विधि की तुलना में 75 प्रतिशत तक श्रम बचाती है.

अर्शदीप सिंहअसीम वर्मा और मनप्रीत सिंह
फार्म मशीनरी और पावर इंजीनियरिंग विभागपीएयूलुधियाना

English Summary: Machinery for Cultivation of Horticultural Crops Published on: 06 August 2023, 11:30 AM IST

Like this article?

Hey! I am लोकेश निरवाल . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News