Machinery

किसान अपने ट्रैक्टर के ईंधन की खपत को कम कर सकते हैं, ये है तरीका

अगर आप किसान हैं, तो आपको यह जरूर पता होगा कि खेती में ट्रैक्टर की कितनी बड़ी भूमिका होती है. ट्रैक्टर की मदद से किसान अपने खेतीबाड़ी के काम को काफी हद तक आसान बना सकते हैं. ट्रैक्टर के साथ कई तरह के कृषि उपकरणों (Farm implements) या कृषि यंत्रों के इस्तेमाल से फसलों की अच्छी देखरेख की जा सकती है. फसलों की बुवाई से लेकर कटाई तक इसका इस्तेमाल किया जाता है. ऐसे में यह बहुत जरूरी है कि किसान अपने ट्रैक्टर का भी पूरा ध्यान रखें. इससे आपके ईंधन की खपत भी कम होगी. आज हम आपको कुछ ऐसी ही ख़ास जानकारी देने जा रहे हैं जिसकी मदद से आप अपने ट्रैक्टर में लगने वाले ईंधन की खपत को काफी हद तक कम कर सकते हैं.

किसान ट्रैक्टर को गलत गियर में चलाने से बचें

अगर किसान ट्रैक्टर को गलत गियर में चलाते हैं तो भी ईंधन की खपत लगभग 20 से 30 फीसदी तक बढ़ सकती है. ऐसे में सही गियर का इस्तेमाल करना बहुत जरूरी है. ट्रैक्टर के भार के मुताबिक ही गियर का इस्तेमाल करें.

डीजल के रिसाव पर ध्यान दें

किसान रोजाना अपने ट्रैक्टर को इस्तेमाल करने से पहले चेक जरूर करें. ऐसा तो नहीं कि कहीं डीजल का रिसाव हो रहा हो. आपको बता दें कि बूंद प्रति सेकेंड डीजल रिसाव से 2 से 3 हज़ार लीटर तक का सालाना नुकसान हो सकता है. ऐसे में खपत को कम करने के लिए ईंधन की टंकी, पंप, इंडक्टर को चेक करते रहें.

ट्रैक्टर का सही तरह से करें इस्तेमाल

सबसे पहले आपको यह जरूर पता हो कि आप अपने ट्रैक्टर का इस्तेमाल सही तरह से कर रहे हैं या नहीं. अगर आपको इसकी सही जानकारी नहीं है तो आप इस संबंध में किसी विशेषज्ञ से जानकारी ले सकते हैं. इसके साथ ही आप चाहें तो ट्रैक्टर के साथ मिलने वाले मैन्युअल की भी मदद ले सकते हैं जिसमें यह जानकरी दी हुई होती है. आप उसके मुताबिक ही ट्रैक्टर को सही तरह से इस्तेमाल करें. ऐसा इसलिए क्योंकि गलत तरीके से इस्तेमाल करने पर ट्रैक्टर ईंधन की खपत 25 फीसदी तक ज्यादा हो सकती है.

काम न होने पर इंजन OFF रखें

लम्बे समय तक अगर आप ट्रैक्टर को इस्तेमाल नहीं करने जा रहे हैं, जैसे 1 घंटे के लिए कोई काम नहीं है, या ट्रैक्टर केवल खड़ा हुआ है तो उसे बंद कर दें. ऐसा न करने पर प्रति घंटा 1 लीटर से ज्यादा डीजल की खपत होगी.



English Summary: farmers can reduce tractor fuel consumption know more about this

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in