1. लाइफ स्टाइल

ये हैं पेट की चर्बी को दूर करने के शानदार टिप्स, वजन घटाने में हैं मददगार

fruit

एक्सरसाइज और खान पान पर कंट्रोल कर आप अपना वजन घटा सकते हैं. अगर इनमें से किसी एक की भी आप अनदेखी करते हैं तो फिर वजन या चर्बी का कम होना बहुत मुश्किल है.  वजन घटाने का कोई शार्टकट रास्ता नहीं है कि एक रात में आपका वजन कम हो जाएगा.  लेकिऩ फिर भी कुछ ऐसे छोटे-छोटे टिप्स और ट्रिक्स हैं, जिनकी मदद से आप वजन को तेजी घटा सकते हैं. ऐसी ही एक चीज है ऐश लौकी या विंटर मेलन (सर्दियों तरबूज) से बना यह खास जूस.

जो लोग इस बाद से अनजान हैं कि, ऐश लौकी क्या है तो उन्हें बता दे कि ऐश लौकी का उपयोग आमतौर पर एक लोकप्रिय मिठाई बनाने के लिए किया जाता है, जिसे हम सभी पेठा के नाम से जानते हैं. हिंदी में भी इस फल को पेठा कहा जाता है.  ऐश लौकी में ककड़ी के समान एक हल्का स्वाद होता है और इसका उपयोग विशेष रूप से भारतीय और चीनी व्यंजनों में किया जाता है.

ऐश लौकी में कुछ अद्भुत औषधीय गुण भी होते हैं, जिसके कारण इसे पारंपरिक चीनी और आयुर्वेदिक चिकित्सा में व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है.

weight

ऐश लौकी कद्दू की तरह है और इसमें भी पानी की मात्रा भरपूर होती है.  इसमें 96 प्रतिशत पानी शामिल है और यह फाइबर में उच्च है.

100 ग्राम ऐश लौकी में कैलोरी: 13 ,प्रोटीन: 1 ग्राम से कम, कार्ब्स: 3 ग्राम,फाइबर: 3 ग्राम, वसा: 1 ग्राम से कम होता है. फल में थोड़ी मात्रा में लोहा, मैग्नीशियम, फास्फोरस, तांबा और मैंगनीज भी होता है.

फलों की त्वचा को छीलकर छोटे टुकड़ों में काट लें. फल के सभी बीजों को निकालना न भूलें.  एक मिक्सर या ब्लेंडर में ऐश लौकी के छोटे स्लाइस डाले और मिक्सर में पीस ले.  एक साफ सूती कपड़ा लें और गूदे और रस को अलग कर दें. आप स्वाद के लिए नींबू के रस और / या 2-3 पुदीने के पत्तों का रस मिला सकते हैं.  पेट की चर्बी घटाने के लिए इस रस को रोज सुबह खाली पेट पिएं.

ये खबर भी पढ़े: Ration Card Holders: राशन संबंधी किसी भी गड़बड़ी पर तुरंत होगी कार्रवाई, इस टोल फ्री नंबर पर करें शिकायत

English Summary: Want to Reduce belly fat, try these tips

Like this article?

Hey! I am विकास शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News