1. लाइफ स्टाइल

मांसपेशियों की ऐंठन खत्म करने के लिए खाएं ये 5 फूड्स, जल्द मिलेगी राहत

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

लॉकडाउन की वजह से कई लोगों ने घर में ही एक्सरसाइज और जिम करना शुरू कर दिया है.  मगर इसकी शुरुआत से मांसपेशियों में हल्का दर्द और ऐंठन की समस्या होने लगती है. बता दें कि अचानक से किसी तरह की शारीरिक गतिविधि करने से मांसपेशियों में लैक्टिक एसिड बनने लगता है. इस कारण मांसपेशियों ऐंठन होने लगती है. अधिकतर यह समस्या मांसपेशियों में ऑक्सीजन की कम आपूर्ति के कारण होती है. अगर किसी को मांसपेशियों में ऐंठन होने की समस्या है, तो वह अपनी डाइट में कुछ ऐसे फूड्स को शामिल कर सकता है. इनके सेवन से मांसपेशियों में ऐंठन होने की समस्या खत्म हो जाती है.

खरबूजा

यह मांसपेशियों की ऐंठन को जल्द खत्म करने में काफी मदद करता है. इसमें सोडियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम जैसे काफी तत्व होते हैं, जो कि संतुलन बनाकर मांसपेशियों की ऐंठन से राहत देते हैं.

केला

इसमें मैग्नीशियम, पोटेशियम और कैल्शियम की अच्छी मात्रा होती है, जो कि मांसपेशियों से ऐंठन को कम करते हैं. खास बात है कि केले का सेवन किसी भी शारीरिक गतिविधि के बाद ज़रूर करना चाहिए. विशेषज्ञों का भी मानना है कि कसरत के बाद केला खाना अच्छा होता है.

शकरकंद

इसमें मैग्नीशियम और कैल्शियम की भरपूर मात्रा पाई जाती है, लेकिन कैल्शियम के मामले में यह केला से थोड़ा आगे है. शकरकंड में केले की अपेक्षा 6  गुना ज्यादा कैल्शियम पाया जाता है. इसको वर्कआउट क्रैम्प रिलीफ फूड के तौर पर खाया जा सकता है.

एवोकाडो

एवोकाडो में वसा और कैलोरी की मात्रा अच्छी होती है, इसलिए यह मांसपेशियों की ऐंठन खत्म करने में मददगार साबित है. हर किसी को सीमित मात्रा में ही इसका सेवन ज़रूर करना चाहिए.

पत्तेदार साग

शारीरिक गतिविधि करने के बाद पत्तेदार साग का सेवन अच्छा माना जाता है. यह पोषण से भरपूर खाद्य पदार्थ है, जो कि सेहत के लिए बहुत लाभकारी साबित है. इसके साथ ही मांसपेशियों की ऐंठन में राहत देता है. आप सलाद में पालक, ब्रोकोली के पत्ते और मेथी आदि हरी सब्जियां शामिल कर सकते हैं.

ये खबर भी पढ़े: Morning Bed Tea सेहत के लिए हानिकारक, जानें इसके नुकसान

English Summary: Treatment of muscle spasms

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News