आपके फसलों की समस्याओं का समाधान करे
  1. लाइफ स्टाइल

तनाव और चिंता को कम करने के लिए फायदेमंद है जापानी माचा चाय

किशन
किशन

आप में से काफी लोग ऐसे होंगे जो कि चाय के बड़े शौकीन होंगे और दिन-रात के सोने से पहले ज्यादा से ज्यादा चाय को पीने के आदि होते है. कई लोग अपने दिन की शुरूआत ग्रीन टी और हर्बल टी से दिन की शुरूआत करते है. ग्रीन टी या हर्बल टी से बेहतर कुछ आजमाया है तो हम आपको बता रहे हैएक ऐसी चाय के बारे में जो कि आपकी सारी चिंता को दूर करने में काफी मदद करती है.

जानिए क्या है जापानी माचा चाय

जापानी चाय पत्तियों के पाउडर से बनी चाय के अलावा और कुछ भी नहीं है. इसका मतलब यह है कि यह कैमेलिया सिनेंसिस हरी झाड़ियों से बनी हुई चाय होती है. ग्रीन टी की तरह ही जापानी माचा चाय पत्तियों के पाउडर से बनी है.यह ग्रीन टी के समान ही कई तरह के स्वास्थ्य लाभ के लिए फायदेमंद होती है. इसी को जापानी माचा चाय कहा जाता है.

MATCHA

अध्ययन के मुताबिक

जर्नल ऑफ फंक्शनल फूडस में छपे एक शोध में यह बात पता चली है कि माचा चाय के सेवन से चूहों में चिंताजनक व्यवहार कम हो गया है. वैज्ञानिकों के अनुसार जापानी माचा चाय के कई तरह की विशेषताओं के कारण है जो कि किक डोपामाइन डी 1 रिसेप्टर्स और सेरोटोनिन 5 - एचटी 1 ए रिसेप्टर्स शुरू करते है.

यहां जापान के कुमामोटो विश्वविद्यालय से शोध निष्कर्ष करने वाले लेखकों का कहना है कि इस चाय पर एक और अध्ययन होना जरूरी है. इस शोध में इस बात को दर्शाया गया है कि माचा चाय मानव शरीर को लाभ प्रदान कर सकती है. क्योंकि कई वर्षों से पहले यह एक औषदि के रूप में इस्तेमाल की जाती रही है. उम्मीद है कि माचा चाय पर सफल अध्ययन दुनियाभर में स्वास्थय लाभ ला सकता है. इसमें चूहों की चिंता पर वैज्ञानिक अध्ययन किया गया है.

जापानी चाय देती कई लाभ

यह चाय चिंता को कम को करने के लिए कई तरह के अन्य लाभ भी प्रदान करती है. इस चाय में बहुत सारे एंटीऑक्सीडेंट होते है, फ्री रेडिकल्स से लड़ने में काफी मददगार, मूड को अच्छा बनाए रखने के साथ ही इसका नियमित सेवन आपके वजन को कम करने में मददगार है.

English Summary: This Japanese tea will reduce your stress

Like this article?

Hey! I am किशन. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News