Lifestyle

अगर शरीर में दर्द रहता है तो इस तरह से सोना शुरू कर दें, मिलेगा तुरंत आराम

sleeping

भागदौड वाले जीवन में इंसान के पास आराम के लिए भी आराम नहीं है. पूरे दिन थके हारे आने के बाद भी उसे न तो अच्छी नींद आती है और न शरीर को विश्राम महसूस होता है. लगातार काम के बोझ से मानसिक शांति भी भंग होती जा रही है. हालांकि कुछ आदतों में सुधार कर इन शिकायतों का समाधान किया जा सकता है. उदाहरण के लिए अच्छी नींद के लिए पीठ के बल सरही तरीके से सोना चाहिए. चलिए आज हम आपको सोने का सही तरीका बताते हैं.

कमर दर्द से राहत

चेयर पर बैठे रहने के कारण अक्सर लोगों को कम उम्र में ही कमर दर्द की शिकायत होने लगी है. लेकिन काम के बाद थोड़ा बहुत घुमना आपको कमर दर्द से राहत दे सकता है. अधिक आराम के लिए आप पीठ के बल सोना शुरू कर दें. पीठ के बल पर सोने से आपके पूरे शरीर को आराम मिलता है. गर्दन को सही सपोर्ट मिल पाता है, जिस कारण कमर दर्द की शिकायत भी दूर होने लगती है.

अच्छी नींद में सहायक

पीठ के बल सोने से नींद अच्छी आती है. कड़े परिश्रम के बाद संपूर्ण रूप से शरीर को आराम देना भी जरूरी है. इसलिए अच्छी नींद के लिए इसी मुद्रा में सोना चाहिए.

ये खबर भी पढ़ें: मलाइका अरोड़ा ने इम्यूनिटी बूस्टिंग ड्रिंक की रेसिपी शेयर की, आप भी डाले एक नजर

sleeping tips

पेट की शिकायत दूर

आज के समय में हर कोई पेट की किसी न किसी समस्या से परेशान है. पीठ के बल सोने से पेट की शिकायत दूर होती है.

झुर्रिया का आना कम करे

पीठ के बल सोने से चेहरे को आराम मिलता है, इसलिए झुर्रियों का आना कम हो जाता है. इस तरह से सोने के बाद शरीर पहले की अपेक्षा अधिक ऊर्जावान बनता है.

शरीर सुडौल रहता है

जब आप लंबे समय तक अपने शरीर को बेढंग और गलत अवस्था में रखते हैं तो शरीर का बेडोल होना स्वभाविक है. इसका एक कारण यह भी है कि जब आप सोते हैं तब आपका शरीर विकास करता है.

(आपको हमारी खबर कैसी लगी? इस बारे में अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरूर दें. इसी तरह अगर आज़ पशुपालन, किसानी, सरकारी योजनाओं आदि के बारे में जानकारी चाहते हैं, तो वो भी बताएं. आपके हर संभव सवाल का जवाब कृषि जागरण देने की कोशिश करेगा)



English Summary: this is the correct posture of sleeping know more about sleeping and good position

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in