Lifestyle

शादियों के सीज़न में ये फल लाएंगे दुल्हन के चेहरे पर निखार

सर्दी का मौसम शुरू हो चुका है और साथ ही शादी-ब्याह का सीज़न भी चल रहा है। हर दुल्हन की ख्वाहिश होती है कि वह सबसे खूबसूरत दिखे। इसमें कोई शक नहीं है कि मेकअप आर्टिस्ट की सलाह और सौंदर्य प्रसाधनों से पिक्चर परफेक्ट लुक हासिल करना काफी आसान है, परंतु यह मेकअप केवल कुछ समय तक ही रहता है. हमेशा नेचुरल ब्राइडल ग्लो के लिए कुछ फल या सब्जियों को आप अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं जिसके सहारे आपकी त्वचा का निखार लंबे समय तक कायम रहेगा।

1. टमाटरः त्वचा को मुहांसों और बढ़ती उम्र के असर से दूर रखने के लिए टमाटर का सेवन बेहद ही जरूरी है। यह स्किन सेल्स को उम्र के असर से मुक्त रखने और कोलेज़न के निर्माण में मदद करता है। विभिन्न विटामिंस के साथ ही यह लाइकोपीन नामक एंटीऑक्साइड का अच्छा स्त्रोत है। यह त्वचा को झुर्रियों से मुक्त रखते हुए उसे जवां बनाए रखने में काफी मदद करता है।

2. अनारः अनार में प्रचुर मात्रा में एंटीऑक्साइड और अन्य पोषक तत्व पाए जाते है जो न सिर्फ त्वचा पर उम्र के असर की रफ्तार को बढ़ने से रोकते है बल्कि त्वचा के कईं तरह के संक्रमण, जलन-सूजन और मुंहासों के बाद रह जाने वाले डार्क स्पॉटस से लड़ने में मदद करते हैं। इसीलिए अनार का सेवन रोज़ाना करना चाहिए।

3. बेरीजः त्वचा के सौंदर्य के लिहाज से इसे सुपर फ्रुट कहना किसी भी रूप में गलत नहीं होगा। भले ही इस समय बेरीज का सीजन नहीं है, लेकिन सुपर मार्केट में ये पूरे साल उपलब्ध रहती है। एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर बेरीज का सेवन सूर्य की हानिकारक किरणों के कारण त्वचा पर पड़ने वाले दुष्प्रभावों को बेअसर करने में मदद करता है। स्ट्रॉबेरी में विशेष रूप से ओमेगा 3 फैटी एसिड प्रचुर मात्रा में होता है। इसकी वजह से इसका सेवन बेजान त्वचा में चमक लाने के लिए काफी मददगार है। बेरीज के सेवन से रंगत निखारने और झुर्रियों को दूर रखने में काफी मदद मिलती है।

4. सेबः आपने ज़रुर इस बारे में सुना होगा कि रोजाना एक सेब खाने से सेहत बेहतर बनी रहती है और डॉक्टर के पास जाने की भी जरूरत नहीं होती, पर यह कहना भी गलत नहीं होगा कि रोजाना एक सेब के सेवन से स्किन प्रॉब्लम भी दूर रहती है और सौंदर्य में भी इजाफा हुआ है विभिन्न विटामिंस और एंटीऑक्साइड से भरपूर सेब में क्यूअरसिन नामक फ्लेवोनॉयड प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। एंटी इनफ्लेमेटरी प्रॉपटर्ज के कारण यह तत्व त्वचा संबंधी बिमारियों को दूर रखने और संवेदनशील त्वचा में सौम्यता के साथ निखार लाने में भी मदद करता है।

किशन अग्रवाल, कृषि जागरण



Share your comments