1. लाइफ स्टाइल

बाजार से लाई सब्जी और फलों के साथ बरतें खास सावधानियां

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

दुनियाभर के लोग कोरोना महामारी से लगातार जूझ रहे हैं. इस वायरस ने लोगों के ज़हन में इतना डर भर दिया है कि अब लोग खाने-पीने के पदार्थों को भी सैनिटाइज कर रहे हैं. सभी लोग फल और सब्जियों को लाने के बाद साबुन और डिटर्जेंट से धो रहे हैं, लेकिन कई रिसर्च में बताया गया है कि ऐसा करना जरूरी नहीं है. अभी तक ऐसा कोई साक्ष्य सामने नहीं आया है, जिसमें यह जानकारी मिली हो कि खाने के पदार्थों से भी कोरोना फैल सकता है. हालांकि, फिर भी खाने-पीने के पदार्थों में सावधानी बरतने की ज़रूरत है. आइए आपके साथ कुछ एक्सपर्ट्स द्वारा दी गई गाइडलाइंस की जानकारी देते हैं.

इस समय बरतें ये सावधानियां

  • जब भी फल और सब्जियां खरीद कर लाएं, तो उन्हें पानी में धोने से पहले हाथों को अच्छी तरह धो लें.

  • फल और सब्जियों को खरीदने के बाद चलते पानी में अच्छी से रगड़कर धो लें. फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) की मानें, तो इन्हें काटने से पहले धोना जरूरी है, ताकि उन्हें छीलते समय गंदगी और बैक्टीरिया चाकू पर न लग पाए.

  • FDA का कहना है कि फल और सब्जियों को साबुन या किसी स्पेशल लिक्विड से नहीं धोना चाहिए. आप इन्हें चलते पानी में रगड़कर धो सकते हैं.

  • इसके साथ ही सब्जियों को खाने से पहले अच्छी तरह उबालना जरूरी है.

  • कच्ची और पकी हुई सब्जियों को अलग-अलग रख सकते हैं.

खबर भी पढ़ें: पालक से बढ़ेगी रोग प्रतिरोधक क्षमता, विटामिन A, B और C से है भरपूर

  • WHO की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि रोजाना तकरीबन 400 ग्राम फल और सब्जियों का सेवन करना जरूरी है.

  • अगर बाजार से खाने के पैकेट ला रहे हैं, तो उन्हें कम से कम 4 घंटे के लिए अलग रख दें.

  • आप फल और सब्जियों को थोड़ी देर के लिए गर्म पानी में बेकिंग सोडा मिलकर रख सकते हैं.

  • ध्यान रहे कि सैनिटाइजर सिर्फ स्किन, स्टील या धातु के लिए लाभकारी होता है, लेकिन प्लास्टिक या मेटल के सरफेस पर कोरोना लगभग 24 से 48 घंटों तक जिंदा रह सकता है. ऐसे में फल और सब्जियों को लाकर एकदम फ्रीज में न रखें.

खबर भी पढ़ें: गर्मियों में सत्तू का सेवन शरीर के लिए है संजीवनी, जानें इसके ज़बरदस्त फायदे

English Summary: Take care to use vegetables and fruits to avoid corona

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News