MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. लाइफ स्टाइल

बलगम से परेशान हैं तो न करें दूध का सेवन !

दूध एक ऐसा तरल पदार्थ है जिसका सेवन हम सभी ने कभी न कभी किया है और कुछ लोग तो इसका सेवन दिन में दो या इससे अधिक बार भी करते हैं परंतु क्या आप जानते हैं कि यदि आपको बलगम या वात की समस्या है तो दूध आपके लिए नहीं है, क्योंकि जिसे बलगम की शिकायत है, दूध उसके शरीर में बलगम की मात्रा को बढ़ा देता है.

गिरीश पांडेय

दूध एक ऐसा तरल पदार्थ है जिसका सेवन हम सभी ने कभी न कभी किया है और कुछ लोग तो इसका सेवन दिन में दो या इससे अधिक बार भी करते हैं परंतु क्या आप जानते हैं कि यदि आपको बलगम या वात की समस्या है तो दूध आपके लिए नहीं है, क्योंकि जिसे बलगम की शिकायत है, दूध उसके शरीर में बलगम की मात्रा को बढ़ा देता है.

यह भी पढ़ें - 300 रूपये लीटर है इस पशु के दूध की कीमत

आज हम आपको दूध के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें बताएंगे

किस समय करें दूध का सेवन

दूध का सेवन अधिकतर लोग दिन के समय करते हैं परंतु दूध पीने का सही समय सुबह और रात का है. दूध का सुबह नाश्ते के साथ और रात में सोने से पहले सेवन करना हमारे शरीर के लिए बहुत लाभदायक होता है.

दूध,दही,लस्सी,छाछ का न करें सेवन

दूध या इससे बनने वाले उत्पादों जैसे - दही, लस्सी, छाछ आदि का सेवन उन लोगों के लिए बेहद खतरनाक है जो बलगम या इससे संबंधित बिमारियों की चपेट में हैं. यदि आप बलगम से परेशान हैं और हर प्रकार की दवाइयां या उपचार कर रहे हैं और साथ में दूध भी पी रहे हैं तो यकीन मानें आपको कभी भी आराम नहीं आ पाएगा.

यह भी पढ़ें - 9700 लीटर दूध देती है यह गाय, कीमत जानकर रह जाएंगे दंग

सिर्फ गर्म दूध करेगा असर

यदि आप दूध को ठंडा या सादा ही पी रहे हैं तो ये जान लें कि इससे आपको न तो पोषण मिलेगा और न ही ताकत. क्योंकि चाहे आयुर्वेद हो या आधुनिक डॉक्टर, सभी का यही कहना है कि दूध को हमेशा गर्म ही पीना चाहिए. गर्म दूध पीने से शरीर को दूध के सभी गुण मिलते हैं.

English Summary: Mucus patient should not drink milk Published on: 17 January 2019, 05:14 PM IST

Like this article?

Hey! I am गिरीश पांडेय. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News