1. लाइफ स्टाइल

होंठों का सूखना मतलब शरीर में खून की कमी !

Blood

हम अक्सर सुनते हैं कि पूरी खुराक न मिलने से शरीर में खून की कमी हो जाती है लेकिन अब देखा ये जा रहा है कि खाते-पीते शरीर में भी खून की कमी पाई जा रही है. ऐसा क्यों हो रहा है ?  इस सवाल का एक ही जवाब है जो हर डॉक्टर आपको देगा. किडनी, लीवर और आंतों का ठीक न होना. शरीर के ये तीन अंग यदि अपना काम ठीक से न करें तो हालत खराब हो जाती है और धीरे-धीरे शरीर को बीमारियां घेर लेती हैं. जैसे - बाल जल्दी सफेद होना शुरु हो जाते हैं, कमज़ोरी आ जाती है, दिनभर असहज महसूस होता है, सिर में दर्द होता है और तो और नींद तक नहीं आती. ये बीमारी ज्यादा न बढ़े इसलिए आज आपको एक नुस्खा और योगा के दो आसन बताए जा रहे हैं. यदि आप एक महीने तक इस नुस्खे और इन दो आसनों को करेंगे तो आपके शरीर में खून की कमी पूरी हो जाएगी और आप शरीर में ताकत महसूस करेंगे. सबसे पहले आपको नुस्खा बता देते हैं -

  • एक कटोरी या गिलास में 4 चम्मच ऐलोवेरा जूस डालें.

  • अब इसमें 2 चम्मच नींबू का रस डालें

  • अब 1 चम्मच अदरक का रस डालें

  • स्वादानुसार चुटकी भर काला नमक

Lips

अब इस मिश्रण को पी लें. एक महीने लगातार इसे पीने से लीवर, किडनी और आंते पूरी तरह स्वस्थ हो जाएंगी और आप स्वस्थ महसूस करेंगे. इसके अलावा आप 2 योगासन कर सकते हैं. ये दोनों ही आसन बहुत आसान हैं -

अनुलोम-विलोम

अनुलोम-विलोम आसन में आप नाक के एक छेद से स्वास भरेंगे और दूसरे से निकाल देंगे और अब दूसरे से स्वास भरेंगे और पहले वाले से निकाल देंगे. यही प्रक्रीया 2 से 3 मिनट तक रोज़ सुबह और शाम दोहराएं.

कपालभाति प्राणायाम

कपालभाति में आप एक सहज अवस्था में बैठकर आंखे बंद करें और पेट पर ध्यान केंद्रित करें. अब हल्की-हल्की स्वास भरें और स्वास छोडें. अगर आपको समझ नहीं आया है तो आप इंटरनेट की मदद ले सकते हैं. कपालभाति को भी दिन में 2 बार खाली पेट करें.

आप देखेंगे की एक महीने में आपका खून भी बढ़ जाएगा और आप अपने अंदर नयी शक्ति महसूस करेंगे.

English Summary: How to remove blood loss

Like this article?

Hey! I am गिरीश पांडेय. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News