Lifestyle

सुबह जग कर खाएं तुलसी के पत्ते, सेहत को होंगे कई फायदें

तुलसी एक द्विबीजपत्रीय औषधीय पौधा होता है. यह झाड़ी के रूप में उगता है और दो से तीन फुट तक ही ऊंचा होता है. इसकी पुष्प मंजरी अति कोमल और बहुरंगी छटाओ वाली होती है जिस पर गुलाबी और बैंगनी आभा रंग वाले बुहत ही छओटे पुष्प लगते है. इसके बीज पीतवर्ण के छोटे काले चिन्हों से युक्त अंडाकार होते है. इसके नए पौधे मुख्य रूप से वर्षा ऋतु में ही उगते है और शीतकाल लगते ही फूलने लगते है. तुलसी का पौधा मुख्य रूप से दो से तीन वर्षों तक पूरी तरह से हरे ही बने रहते है. बाद में यह पौधे अपनी वृद्धाअवस्था में आ जाते है. बाद में इसके पत्ते कम हो जाते है और सूख जाते है और शाखाएं सूखी दिखाई देती है. तुलसी एक औषधीय पौधा है तो यह सेहत के लिए भी काफी असरकारक होता है. तो आइए जानते है कि तुलसी को खाने से क्या फायदें होगें

तुलसी के पत्ते बेहद असरकारक

तुसली का पत्ता घर के लिए भी शुभ माना जाता है. साथ ही इस पौधे का भारतीय संस्कृति और हिंदू धर्म से गहरा नाता है, यह व्यक्ति की सेहत के लिए भी फायदेमंद है-

1. सर्दी और जुकाम की समस्या दूर करें

तुलसी का पत्ता रोज सुबह खाने से आपको गले और सर्दी से संबंधी बीमारियों से काफी राहत मिलेगी. इससे न केवल सर्दी और खांसी जैसी समस्या दूर रहेंगी बल्कि आपका पाचन भी ठीक स्तर पर बना रहेगा. इसमें एंटी-बैक्टीरियल प्रापर्टीज होती है जो कि काफी फायदेमंद होती है. इससे पेट में जलन और एसिडीटी से बचा जा सकता है. साथ ही इसके पत्ते बॉडी के पीएच लेवल को कम करने मे मददगार साबित होते है.

तनाव करें कम

तुलसी के पत्ते में अडैप्टोजेन स्ट्रैस को कम करने में मदद करता है. यह नर्वस सिस्टम को रिलैक्स करते हुए बॉडी के फ्लो को सुधारने का काम करता है. तुलसी के पत्तों को खाने से सिरदर्द में भी राहत मिलती है. स्ट्रैस व सिरदर्द की परेशानी से निपटने के लिए सुबह खाली पेट 2 से 3 पत्तियां तुलसी का सेवन करें.

सांस की दुर्गंध दूर करें दें

सांस की दुर्गध को दूर करने में भी तुलसी के पत्ते काफी ज्यादा फयादेमंद होते है. साथ ही नेचुरल होने की वजह से इसका कोई साइडइफेक्ट भी नहीं होता है. अगर आपके मुंह से दुर्गधं आ रही हो तो आप तुलसी के पत्ते आसानी से चबा सकते है. ऐसा करने पर मुंह की दुर्गंध चली जाती है.



Share your comments