Lifestyle

इस दिवाली मिठाईयों से करें परहेज़, मधुमेह ग्रसित लोगों के लिये बढ़ सकता है खतरा

दिपावली को पटाखों के साथ मिठाईयों का त्योहार भी कहा जाता है. इस वक्त मिठाईयों के अत्यधिक सेवन की वजह से मधुमेह ग्रस्त लोगों का ब्लड शुगर का स्तर बहुत अधिक मात्रा में बढ़ जाता है जिसको नियंत्रण करना बहुत मुश्किल हो जाता है जिस कारण पीड़ित व्यक्ति को इस स्थिति में बहुत अधिक प्यास लगती है और लगातार भूख लगने जैसी समस्या होती है. यह किसी को भी हो सकती है और यह समस्या बच्चों में अधिक पाई जाती है.

इन्सुलिन की कमी :

मधुमेह में हमारे शरीर में इन्सुलिन का बनना कम हो जाता है या फिर इन्सुलिन बनना ही बंद हो जाता है. जिस कारण हमे मधुमेह जैसी समस्या का शिकार होना पड़ सकता है.

ग्लूकोज़ का स्तर :

हमारे शरीर में ग्लूकोज़ का स्तर खाने से पहले 100 और खाने के बाद 125 से ज्यादा हो तो सतर्क हो जाएं क्योंकि यह मधुमेह रोग होने की चेतावनी है.

जीवन-शैली  में बदलाव :

अगर आप इससे बचना चाहते हैं तो अपनी जीवन शैली में बदलाव करें और जितना हो सके शारीरिक श्रम और पेदल सैर करे ताकि आपके शरीर से विषैले तत्व बाहर निकल जाएं और आप सदैव निरोगी रहे.

फलों का सेवन करे :

रोज़ाना सुबह जामुन,सेब,किवी जैसे फलों का सेवन करें ताकि आपका शरीर तंदरुस्त और विटामिन से भरपूर रहे और आप सदैव तंदरुस्त और सेहतमंद रहे.

मनीशा शर्मा, कृषि जागरण  



Share your comments