Lifestyle

भांग की चाय से गंभीर बीमारियों को रखें दूर

अपनी रोज़मर्रा की जिंदगी में आपने कईं तरह की चाय पी होगी पर आज हम आपको ऐसी चाय के बारे में बताएंगे जिसके सेवन से आप कई तरह की बीमारियों से निजात पा सकेंगे.

भांग को ज्यादातर लोग नशा समझते है लेकिन लोग यह नहीं जानते कि इसमें कई प्रकार के एंटी ऑक्सीडेंट, विटामिन, मिनरल, फाइबर, पोटैशियम आदि गुणों का खज़ाना होते है जो हमारे शरीर के लिए बहुत महत्वपूर्ण होते है. भांग से बनी चाय से गठिया और तनाव जैसे समस्या से कुछ ही हफ़्तों में राहत पाई जा सकती है. यह एक तरह कि संजीवनी बूटी का भी काम करती है.

यह भी पढ़ें - क्या करें जब घिसने लगे घुटनों की ग्रीस

भांग की चाय पर विशेषज्ञों द्वारा अध्ययन करने पर पता चला है कि अगर भांग का सेवन सीमित मात्रा में किया जाए तो इससे हमारे शरीर को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है . इसके सेवन शरीर से विभिन्न प्रकार की बिमारियों को भगाने में सहायक होता है.

भांग की चाय बनाने की विधि 

एक ग्राम भांग को एक लीटर पानी में डालकर उबालें फिर उसमें 2 से 3 तुलसी की पत्तियों को डाल दें. अच्छे से उबालने के बाद चाय को कुछ देर के लिए ठंडा होने के लिए रख दे. उसके बाद यह पीने के लिए उपयुक्त हो जाती है.

दिल के रोगों से निजात

भांग की चाय का सेवन करने से आपके शरीर में ब्लड सर्कुलेशन की गति को तेज़ हो जाती है. ब्लड सर्कुलेशन दिल को स्वस्थ रखने में मदद करता है जिससे आपको दिल सम्बंधित रोगों से निजात मिलता है.

तनाव से निजात

आज के समय में लोगों में तनाव बढ़ता जा रहा है जिस वजह से कई प्रकार की समस्याएं पैदा हो रही है. भांग की चाय आपके दिमाग को अंदरूनी रूप से शांति प्रदान कर आपके तनाव को कम करती है क्योंकि इसमें न्यूरोपोट्रैटिव गुण शामिल होते है.

भूख बढ़ाने में मददगार 

इसका सेवन आपकी भूख को बढ़ाने में भी काफी फायदेमंद है. जिन लोगों को भूख नहीं लगती वह इस चाय का सेवन कर सकते है.

फेफड़ो की समस्या से छुटकारा

भांग की चाय उन लोगों के लिए काफी फ़ायदेमंद है जिन लोगों को श्वसन रोगों की समस्या हैं. क्योंकि इसका सीमित मात्रा में किया सेवन आपके फेफड़ों को दुरुस्त रखने में मदद करता है.

पुराने दर्द से राहत

भांग की चाय का सेवन करने से पुराने से पुराना दर्द भी दूर हो जाता है. जैसे- मल्टीपल स्केलेरोसिस, एड्स, कैंसर आदि से पीड़ित लोग को इस चाय का सेवन करने से दर्द से काफी राहत मिलती है.



Share your comments