Lifestyle

मखाने का सेवन दूर कर सकता है रक्तचाप की समस्या

सेहत को ठीक रखने के लिए सूखे मेवों को काफी ज्यादा असरदार माना जाता है। वैसे तो आपने कई तरह के सूखे मेवों का अपने जीवन में सेवन किया होगा जैसे कि बादाम, अखरोट, काजू आदि। हालांकि मखाना भी सूखे मेवों दायरे में ही आता है. जिसकी ओर लोगों का ध्यान बहुत कम जाता है। अगर हम मखाने के बारे में बात करें तो मखाना दलदली क्षेत्र के शांत पानी में उगने वाला पोषक तत्वों से भरपूर एक तरह का जलीय उत्पाद है।  मखाने के बीज का उपयोग भूनकर मिठाई, नमकीन खीर आदि में डालकर खाने में किया जाता है। इसका उत्पादन देश में बिहार के मधुबनी, दरभंगा, कटिहार, पूर्णिया, सुपौल, सीतामढ़ी आदि जिलों में किया जाता है। यह राज्य मखाने के उत्पादन में सबसे आगे माना जाता है। बता दे कि आप मखाने को आम से लेकर खास किसी भी दिन आसानी से खा सकते है। इसमें पाए जाने वाले प्रोटीन, एंटीऑक्साइड विटामिन, विटामिन, कैल्शियम, मिनरल, फास्फेरस शरीर के लिए काफी आवश्यक माने गए है। तो चलिए जानते है कि मखाने में वह कौन-कौन से गुण है जो सेहत को लाभ पहुंचाते है.

रक्तचाप कम करने में सहायक

जिन लोगों को तेजी से अपना वजन कम करना है. उनको मखाने का सेवन अवश्य करना चाहिए। इसमें उच्च मात्रा में उच्च पोटेशियम और सोडियम कम मात्रा में होता है जो कि रक्तचाप को स्थिर करने में मददगार है।

वजन कम करने में सहायक

आपको अगर ज्यादा भूख लगती है और आप परेशान है तो आप मखाने को खा कर आसानी से रह सकते है। इसमें उच्च फाइबर और वसा काफी कम होती है। इसीलिए जब आप इसका सेवन करते है तो आपको काफी देर तक भूख नहीं लगती है।

दिल का ख्याल रखना

मखाने में पाया जाने वाला मैग्नीशियम, ऑक्सीजन व अन्य पोषक तत्व रक्त के प्रवाह को बेहतर बनाता है। इस कारण हृदय रोग संबंधी समस्या कम ही होती है और स्वास्थय संबंधी परेशानी नहीं होती है।



Share your comments