1. लाइफ स्टाइल

100 ग्राम बांस खाने के ऐसे फायदे, जिन्हें आप कभी सुने न होंगे !

मनीशा शर्मा
मनीशा शर्मा

बांस के बारे में तो हम सब जानते है इससे कई तरह की चीजें बनाई जाती है आजकल बांस से बनी बोतल काफी चर्चाओं में है पर आज हम आपको बांस से बनी चीजों के फायदे नहीं बताएंगे. बल्कि इसको खाने के फायदों पर आपका ध्यान केंद्रित करेंगे. जिसके बारे में जानकर ज्यादातर लोगों को हैरानी होगी पर ये सच है. बांस को हम खा भी सकते है. क्योकि इसमें महत्वपूर्ण और पौष्टिक तत्व मौजूद होते है जैसे- प्रोटीन, मिनरल्स, फाइबर और कार्बोहाइड्रेट आदि. जो आपके शरीर को स्वस्थ रखने में काफी लाभकारी सिद्ध होते है. इसे आप सूप, सलाद और सब्जी के रूप में भी खा सकते है, तो आइये जानते है इसके अनसुने फायदों के बारे में....

वजन कम करने में फायदेमंद ( lose weight )

बांस की टहनी में बहुत कम मात्रा में कार्बोहाइड्रेट, शुगर और फैट मौजूद होता है जो आपके वजन को बढ़ने से रोकता है. क्योंकि इसकी 100 ग्राम टहनी में करीब 0.49 ग्राम से भी कम फैट पाया जाता है. जिस कारण इसके सेवन से मोटापा बढ़ने की समस्या काफी हद तक कम रहती है और आप फिट रहते है.

bamboo

हृदय सम्बंधित समस्या में फायदेमंद (Heart Disease)

इसमें काफी अधिक मात्रा में फाइटोन्यूट्रियेंट और फाइटोस्टोरोल मौजूद होते हैं और जो हमारे शरीर से खराब कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल) को कम करने में फायदेमंद होते है यह हमारे धमनियों को ब्लॉक्ड होने से बचाते है जिससे हमें हृदय सम्बंधित समस्या से छुटकारा मिलता है.

एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर (Rich in Anti –inflamantory) 

अगर आप इसका सेवन रोज सुबह सूप की तरह करते है तो इससे अल्सर जैसी समस्या से निजात मिलती है. क्योंकि इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण घाव और की तरह की समस्याओं को ठीक करने के लिए जाने जाते है,

इम्यून सिस्टम को बनाता है मजबूत (Strong Immune system)

इसका रोजाना सेवन करने से इम्युनिटी सिस्टम मजबूत होता है क्योंकि इसमें मौजूद विटामिन और मिनरल्स का अच्छा स्रोत होता है. इसके साथ ही इसमें कई तरह के एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं जो हमारे इम्यून सिस्टम के लिए बहुत जरूरी होते हैं.

और भी पढ़े: क्यों खाते है आदिवासी बांस के चावल, जानें इसके फायदे

English Summary: Benefits of eating 100 grams of bamboo, which you have never heard

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News