1. लाइफ स्टाइल

Arsenic in Rice: चावल खाने से हो सकता है कैंसर, हो जाएं सावधान

arsenic in rice india

चावल (Rice) एक ऐसा खाद्य पदार्थ है जिसे लगभग हर कोई खाना पसंद करता है. बहुत से लोग अपने भोजन में मुख्य रुप से चावल को शामिल करते हैं. अगर आप भी ऐसे लोगों में शामिल हैं तो आपको तुरंत सावधान हो जाने की जरूरत है, क्योंकि चावल खाने से आपको बीमारियां हो सकती है. ऐसे में क्या चावल खाना बंद कर देना चाहिए?  ऐसा नहीं है, क्योंकि सभी प्रकार के चावल सेहत के लिए हानिकारक नहीं होते है. लेकिन जिन चावलों में आर्सेनिक नामक तत्व की मात्रा अधिक होती है वह सेहत के लिए हानिकारक होता है. ऐसे में आइए आज आपको बताते हैं कि ऐसा चावल खाने के क्या नुकसान होते हैं.

रिसर्च के अनुसार, आर्सेनिक का स्तर शरीर में अधिक होने से कई गंभीर बीमारियां होने की संभावना होती है. शरीर में इसका स्तर अधिक होने से पेट दर्द, सिर में दर्द, चक्कर आने, डायरिया और भ्रम की स्थिति तक पैदा हो जाती है. इसका अधिक संपर्क शरीर में त्वचा संबंधी बीमारियों, टाईप-2 डायबिटीज का खतरा और न्यूरोलॉजिकल समस्याएं भी पैदा कर देता है. इम्यून सिस्टम के साथ-साथ, गर्भवती महिलाओं के लिए भी आर्सेनिक का सेवन हानिकारक होता है.

how to remove arsenic from rice

ज्यादा चावल खाने से हो जाएगा कैंसर

चावल में मौजूद आर्सेनिक का जहरीला रसायन आपके सेहत के लिए कितना खतरनाक साबित होगा यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप चावल का कितना सेवन करते हैं. अगर आप सप्ताह में कुछ ही बार चावल खाते हैं, तो आपको ज्यादा नुकसान नहीं होगा. छोटे बच्चों को हमेशा चावल से दूर रखना चाहिए. अगर आप चावल खाना बहुत ही ज्यादा पसंद करते हैं, तो भी ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं. आप चाहें तो चावल से आर्सेनिक रसायन को कम कर सकते हैं. चावल को ज्यादा पानी में डालकर पकाते हैं, तो इससे आर्सेनिक रसायन कम हो जाता है.

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि आर्सेनिक वातावरण में प्राकृतिक रूप से मौजूद होता है. निश्चित से अधिक मात्रा में आर्सेनिक का शरीर में जमा होना हानिकारक होता है. कीटनाशक और उर्वरक के अधिक इस्तेमाल के कारण शरीर में आर्सेनिक की मात्रा अधिक होती जाती है. इनऑर्गेनिक आर्सेनिक जोकि पेस्टीसाइड और फर्टीलाइज़र में पाया जाता है वह शरीर के लिए अधिक हानिकारक होता है.

English Summary: Arsenic in Rice: eating arsenic rice can cause cancer, be careful

Like this article?

Hey! I am विवेक कुमार राय. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News