1. औषधीय फसलें

भुई नीम के औषधीय गुण हैं बेमिसाल, जानिए इसके फायदे

अगर आप भी अपनी शरीर को हमेशा स्वास्थ्य बनाए रखना चाहते है, तो आप आपको भुई नीम (Bhui Neem) से बने उत्पादों का सेवन करना चाहिए. भुई नीम के पत्ते कई तरह की बीमारियों को दूर करती है और साथ ही यह त्वचा रोग भी दूर करती है....

लोकेश निरवाल
लोकेश निरवाल
भुई नीम के औषधीय गुण हैं बेमिसाल
भुई नीम के औषधीय गुण हैं बेमिसाल

भुई नीम एक ऐसा पौधा है, जिसे नीम के समान ही माना जाता है. स्वाद में यह नीम की तरह कड़वा होता है. इसके पौधे छोटी वार्षिक जड़ी बूटी के समान दिखाई देते हैं. कई स्थानों पर इसे कालमेघ के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि इसके पौधे नीले आकाश में एक काले बाद की तरह दूर से चमकते हुए दिखाई देते हैं. इसके अलावा इसमें अनेक शाखायुक्त पौधे होते हैं, जो ज्यादातर भारत के दक्षिण-पूर्व एशिया में पाए जाते हैं.

आपको बता दें कि इस पौधे को भारत में कई सर्वरोग निवारिणी के नाम से भी जाना जाता है. इसके पत्तों में 150 से ज्यादा रासायनिक रूप या प्रबंध पाए जाते हैं. इसके अलावा इसके पत्ते में स्टेम और जड़ों का औषधि बनाने में भी उपयोग किया जाता है, क्योंकि इसमें कई तरह के जीवाणुरोधी, एंटीवायरल, एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते है. जो व्यक्ति के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं.

क्या है भुई नीम ? (What is Bhui Neem?)

भुई नीम (Bhui Neem) के खड़ी जड़ी बूटी का पौधा होता है. इसकी ऊंचाई लगभग 1 से 3 फीट तक होती है. इसका तना गहरे हरे रंग का होता है. अगर हम बात करें, इसकी पत्तियों की तो इसकी पत्ती चिकनी, विपरीत, लैंसोलेट पर रैखिक और 1.5 से 2.5 इंच लंबाई और वहीं 0.5 से .75 इंच चौड़ी पाई जाती हैं. इसके फूल बहुत छोटे होते है. साथ ही इसके फूलों पर बैंगनी रंग के धब्बे दिखाई देते हैं.

तो आइए आज हम इस लेख में भुई नीम के फायदे के बारे में जानते हैं.

  • भुई नीम हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है. आयुर्वेद के मुताबिक इसमें पचनसंस्था और श्वसन विकार, बुखार, अन्य पुरानी और संक्रामक बीमारियों के इलाज के लिए यह किसी वरदान से कम नहीं है.

ये भी पढ़े ः चिरायता (Chirata Plant) के फायदे और नुकसान, ज़रूर पढ़िए

  • भुई नीम के पत्तों का सेवन करने से व्यक्ति के रक्त शर्करा और रक्तचाप में सुधार होता है.
  • इसके अलावा इसके इस्तेमाल से एक्जिमा जैसे त्वचा रोग से भी व्यक्ति को मुक्ति मिलती है. 
  • अगर किसी व्यक्ति को भूख नहीं लगती है तो उसे भुई नीम के सूखे पौधे का पाउडर लगभग 2 ग्राम की मात्रा के साथ गुनगुने पानी में मिलाकर पीने से व्यक्ति के पाचन शक्ति में सुधार होता है और साथ ही उसे भूख भी लगना शुरू हो जाती है.
English Summary: Bhui Neem will cure all diseases Published on: 27 April 2022, 05:43 IST

Like this article?

Hey! I am लोकेश निरवाल . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News