1. बागवानी

Amla Diseases & Storage: आंवले को कैसे करें स्टोर और जानें इनमें लगने वाले रोग

Amla (Indian Gooseberry)

आंवला (Gooseberry) तो हम सभी जानते हैं और इसका बहुत सी चीज़ों में उपयोग भी करते हैं, लेकिन जो लोग आंवला उगाते हैं या उगाने वाले हैं उनको यह जानना जरुरी है की आंवले में किस तरह के रोग लगते हैं और साथ ही जब आंवला उग जाये तो उसको स्टोर कैसे करें.

आंवले में पाए जाने वाले रोग (Diseases found in gooseberry)

एन्थ्रक्नोसे (Anthracnose)

यह एक कवक संक्रमण है जो सबसे पहले पत्ती की एक या दोनों सतहों पर बेतरतीब ढंग से बिखरे हुए कई गहरे-भूरे से काले डॉट्स के रूप में दिखाई देता है. संक्रमण बढ़ते मौसम के दौरान किसी भी समय प्रकट हो सकता है. धब्बे बड़े हो जाते हैं, रूपरेखा में अधिक कोणीय हो जाते हैं, और कभी-कभी एक बैंगनी रंग का मार्जिन होता है. प्रभावित पत्तियाँ शीघ्र ही पीली हो जाती हैं और फिर गिर जाती हैं. यह पौधे को कमजोर करता है, शक्ति और उत्पादकता को कम करता है, और इसके परिणामस्वरूप कम गुणवत्ता वाले फल होते हैं.

लीफ स्पॉट (Leaf Spot)

इस रोग को आमतौर पर सेप्टोरिया लीफ स्पॉट कहा जाता है, जो संक्रमण पैदा करने वाले कवक के परजीवी चरण का नाम है. इस पत्ती के धब्बे को कुछ विशेषताओं द्वारा एन्थ्रेक्नोज के कारण होने वाले से अलग जाना जाता है. इसके धब्बे आमतौर पर जून में पत्ते पर दिखाई देते हैं, जिस समय वे एन्थ्रेक्नोज के समान होते हैं. धब्बे बड़े हो जाते हैं और मध्य क्षेत्र भूरे रंग की सीमा के साथ हल्के रंग का हो जाता है. छोटे, काले धब्बे जल्द ही प्रत्येक स्थान की सतह पर बिखरे हुए दिखाई देते हैं. ये धब्बे कवक के शरीर हैं, जिनमें बीजाणु होते हैं. वे एन्थ्रेक्नोज लीफ स्पॉट पर दिखाई नहीं देते हैं. रोगग्रस्त पत्ते, विशेष रूप से करंट पर, पीले हो जाते हैं और गिर जाते हैं.

पाउडर की तरह फफूंदी (Powdery Mildew)

इसमें दो प्रकार की फफूंदी लगती है एक अमेरिकी और दूसरी यूरोपीय, और यह राइब के पौधों पर हमला करते हैं. आंवले की बीमारी के रूप में फफूंदी सबसे महत्वपूर्ण है. कवक के सफेद, ख़स्ता धब्बे पहले झाड़ी के निचले हिस्सों पर दिखाई देते हैं और पत्तियों, अंकुरों और जामुनों पर हमला करते हैं. जैसे-जैसे संक्रमण बढ़ता है. इन भागों की पूरी सतह सफेदी से ढक जाती है. पुराने संक्रमण एक पतली, महसूस जैसी कोटिंग बनाते हैं, जो भूरे से लाल भूरे रंग की होती है. पेरिथेसिया नामक काले बिंदु, जिसमें कवक के बीजाणु होते हैं, प्रभावित क्षेत्रों को कवर करने वाले कवक मैट में दिखाई देते हैं. भारी फफूंदी जमा होने से पर्ण समूह का विकास रुक जाता है और समय से पहले सूख जाता है, जिससे फल उत्पादन प्रभावित और पौधे कमजोर हो जाते हैं.

आंवले में लगने वाले मामूली रोग (Minor diseases of gooseberry)

कैनेबलाइट या विल्ट (Caneblight or Wilt)

यह एक कवक जीव है जो बिखरे हुए बेंत या पूरी झाड़ियों के अचानक मुरझाने और मरने का कारण बनता है. यह फल पकने से ठीक पहले सबसे अधिक स्पष्ट होता है.

सफेद पाइन ब्लिस्टर जंग (White Pine Blister Rust)

इसमें वसंत ऋतु में, पत्तियों के नीचे की ओर छोटे, पीले धब्बे देखे जा सकते हैं. आंवले के आस-पास पीले से भूरे धागे जैसी विकसित हो जाती है. इन विकासों में एक अन्य प्रकार का बीजाणु होता है, जो पतझड़ में सफेद चीड़ को अंकुरित और संक्रमित करता है.

क्लस्टर कप (Cluster Cup)

यह जंगली आंवले की प्रजातियों पर या उपेक्षित घरेलू उद्यान रोपणों पर लक्षण पैदा कर सकता है, लेकिन मामूली नुकसान का कारण बनता है. जंग पत्तियों, तनों और फलों को प्रभावित करता है, लेकिन आमतौर पर पत्तियों और पत्ती के डंठल पर पाया जाता है. यह धब्बे लाल रंग के दिखाई देते हैं.

करंट मोज़ेक (Currant Mosaic)

यह विषाणु रोग पत्तियों पर क्लोरोटिक पैटर्न (प्रकाश और अंधेरे क्षेत्रों) के रूप में दिखाई देता है और हल्के-हरे रंग के क्षेत्र धीरे-धीरे सफेद हो जाते हैं.

आंवले को कैसे करें स्टोर (How to store gooseberry)

जमने वाले आंवले (Freezing Gooseberries)

अगर आप चाहते हैं कि आपके आंवले एक हफ्ते से ज्यादा चले तो आप उन्हें फ्रीजर में स्टोर कर सकते हैं. जब फ्रीजर में आंवले को स्टोर करने की बात आती है, तो आपके पास वास्तव में तीन विकल्प होते हैं. सबसे पहले, आप उन्हें केवल सूखा पैक कर सकते हैं. आंवले को एक ट्रे पर निकाल कर चार से आठ घंटे के लिए फ्रीजर में रख दें. जब वे पूरी तरह से जमी हों, तो आप उन्हें एक सीलबंद कंटेनर में रख सकते हैं और उन्हें फ्रीजर में स्टोर कर सकते हैं.

डिब्बाबंद आंवला (Canning gooseberries)

यदि आप चाहते हैं कि आपके आंवले वास्तव में ताज़े रहें, तो उन्हें पैक कर दें. डिब्बाबंद आंवले एक साल तक चलते हैं जब तक वो सीलबंद रहते हैं. आप फल को उबाले बिना भी ऐसा कर सकते हैं; बस एक जार में ताजा आंवले लें और उनके ऊपर तीखी गर्म चीनी की चाशनी डाल दें. अपने आंवले की डिब्बाबंदी पूरी करने के बाद, सुनिश्चित करें कि आप डिब्बे को ठंडे स्थान पर रखें.

सूखे आंवले (Dried Gooseberries)

अगर आप अपने आंवले को फ्रीज नहीं करना चाहते हैं, तो आप उन्हें सुखाकर 6 महीने तक स्टोर भी कर सकते हैं. आपको बस उन्हें लगभग छह से सात मिनट तक भाप देना है, उन्हें काटना है और उन्हें धूप में रखना है. सुखाने के बाद, आप या तो उन्हें कमरे के तापमान पर छह महीने तक या फ्रीजर में अनिश्चित काल तक रख सकते हैं. अगर आप उन्हें फिर से नरम बनाना चाहते हैं, तो बस थोड़ा सा पानी डालें.

English Summary: Amla Diseases & Storage: How To Store Amla And Know The Diseases In It

Like this article?

Hey! I am रुक्मणी चौरसिया. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters