MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. पशुपालन

पशुपालन करने वाले किसानों के लिए 5 महत्वपूर्ण बातें, होगी कमाई बढ़ेगा उत्पादन

खेती-बाड़ी के अलावा किसानों की आजीविका पशुपालन पर निर्भर रहती है. पशुपालक डेयरी फार्मिंग का व्यवसाय शुरू कर लाखों रूपए महीने कमाते है. लेकिन कई डेयरी फार्म के किसान हैं जो अपने डेयरी फार्म खोलने के बाद भी घाटे का सामना कर रहे हैं. कई बार घाटा इतना बड़ा हो जाता है कि उन्हें व्यवसाय बंद करना पड़ता है.

स्वाति राव
स्वाति राव
Animal Husbandary
Animal Husbandary

खेती-बाड़ी के अलावा किसानों की आजीविका पशुपालन पर निर्भर रहती है. पशुपालक डेयरी फार्मिंग का व्यवसाय शुरू कर लाखों रूपए महीने कमाते है. लेकिन कई डेयरी फार्म के किसान हैं जो अपने डेयरी फार्म खोलने के बाद  भी घाटे का सामना कर रहे हैं. कई बार घाटा इतना बड़ा हो जाता है कि उन्हें व्यवसाय बंद करना पड़ता है.

हम यहां आपके डेयरी फार्म को चालू रखने के लिए कुछ  महत्वपूर्ण बातों के बारे में बताने जा रहे हैं. ये कदम आपको अच्छा पैसा कमाने और डेयरी फार्मिंग के इस खेल में एक दीर्घकालिक खिलाड़ी बनने में मदद करेगा.

पशुपालन के लिए 5 महत्वपूर्ण बातें  (5 Important Things For Animal Husbandry)

  • पशुओं का ठण्ड से बचाव करें, जैसे की ठण्ड के मौसम की शुरुआत हो चुकी है. जो की पशुओं के लिए बेहद नाजुक महिना होता है. इसके प्रकोप से पशुओं में कई तरह की बीमारियाँ पैदा हो जाती है. ऐसे में पशुओं का विशेष ध्यान रखें. उन्हें सूखी जगह पर बांध कर रखें. अच्छे से खुले जगह में जहाँ धुप हो वहां पर बंधें और रात के समय उन्हें किसी सुरक्षित कमरे में रखे.

  • पशुओं का समय पर टीकाकरण ज़रूर करवाएं. बात दें पशुओं को होने वाली बीमारियों से बचाव के लिए जरुरी है उन्हें समय पर टीक लगवाया जाए. इसके अलवा यदि बछड़ों को ठंड के मौसम में खांसी, निमोनिया, खांसी से संबंधित रोग हैं तो पशु चिकित्सक से परामर्श के बाद ही पशु को दवा दें. दुधारू पशुओं को बीमारी से बचाने के लिए दूध देने के बाद दावा को कीटाणुनाशक घोल से धोना चाहिए.

इस खबर को भी पढें - इन चार पशुपालन व्यवसाय से किसान कर सकते हैं लाखों की कमाई, सरकार देती है अनुदान

  • इसके अलावा बदलते मौसम की वजह से जानवरों में नाक से पानी आना, भूख न लगना, कांपना आदि जैसे बीमारियों का सामना करना पड़ता है. तो ऐसे में पशुओं का विशेष ध्यान रखना चाहिए. पशुओं के पेट में जब कीड़े पड़ जाते हैं तो ऐसे समय पर विशेष ध्यान दे. उन्हें पीने के लिए ताजा और साफ पानी दें . ज्यादा ठंडा पानी पेट की एसिडिटी को बढ़ा देता है जिसका उत्पादन और शरीर पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है.
  • पशुओं में मौसम के बदलाव की वजह से दस्त भी होने लगते है. जिस वजह से पशुओं में कमजोरी आ जाती है और वह असहाय हो जाते है. तो ऐसे में पशुओं को सरसों का तेल पिलाएं और पशु चिकित्श्क से सलाह लेकर  उनका समय पर उपचार करवाएं.

  • अब बात करते हैं उनके आहार की. तो पशुओं को उनके दैनिक आहार के रूप में हरा चारा खिलाना चाहिए. वहीं एक तिहाई सूखा खाना और बचा हुआ हरा चारा देने से उनकी सेहत में सुधार होगा. पशु के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए एक निश्चित मात्रा में हरा चारा देना पड़ता है. हरे चारे में बहुत सरे पौष्टिक गुण पाए जाते हैं जो पशुओं की सेहत के लिए बेहद लाभदायाक होते है.

English Summary: 5 important tips for animal husbandry farmers Published on: 14 December 2021, 02:06 IST

Like this article?

Hey! I am स्वाति राव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News