BPCL: जानें, भारत पेट्रोलियम के ग्राहकों को LPG पर सब्सिडी मिलेगी या नहीं!

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Bharat Petroleum Gas Subsidy

Bharat Petroleum Gas Subsidy

केंद्र सरकार की तरफ से यह फैसला लिया गया है कि वह जल्द ही तेल कंपनी भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (Bharat Petroleum Corporation Limited/BPCL) को बेच देगी. इसकी प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है. मगर अब सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि जब केंद्र सरकार कंपनी को बेच देगी, तब आपको गैस सिलेंडर पर सब्सिडी (Subsidy on LPG Gas Cylinder) मिलेगी या नहीं? आइए आपको बताते हैं कि गैस सिलेंडर पर मिलने वाली सब्सिडी का क्या होगा?

गैस सिलेंडर पर जारी रहेगी सब्सिडी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आपको गैस सिलेंडर पर मिलने वाली सब्सिडी पर किसी तरह का प्रभाव नहीं पड़ेगा. फिलहाल, हर गैस सिलेंडर पर मिलने वाली सब्सिडी जारी रहेगी. केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने स्पष्ट कर दिया था कि केंद्र सरकार गैस सिलेंडर पर मिलने वाली सब्सिडी (Subsidy) को बैंक खाते में डालती रहेगी. 

जानकारी के लिए बता दें कि देशभर में करीब 7.3 करोड़ उपभोक्ताओं हैं, जो कि भारत पेट्रोलियम (Bharta Petroleum) का गैस सिलेंडर कनेक्शन इस्तेमाल करते हैं. जानकारी के मुताबिक, अगर बीपीसीएल का नया मालिक एलपीजी बिक्री के कारोबार को जारी नहीं रखेगा, तो ऐसे में उपभोक्ताओं को अन्य सार्वजनिक कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOC) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (HPCL) में स्थानांतरित किया जाएगा. बीपीसीएल (BPCL) के निजीकरण के बाद भी करीब 7.3 करोड़ उपभोक्ताओं के लिए सब्सिडी की सुविधा जारी रहेगी.

उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार एक साल में हर परिवार को 14.2 किलो ग्राम वाले 12 रसोई गैस सिलेंडर पर सब्सिडी उपलब्ध कराती है. दिसंबर में प्रति सिलेंडर पर करीब 50 रुपए सब्सिडी है. इसका भुगतान उपभोक्ताओं के बैंक खाते भेजा जाता है. अगर उपभोक्ता बाजार से एलपीजी सिलेंडर को खरीदते हैं, तब भी उसके मूल्य पर सब्सिडी उपलब्ध कराई जाती है.

English Summary: To be found on Bharat Petroleum's LPG Subsidy will continue

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News