MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. सरकारी योजनाएं

Kisan Vikas Patra Scheme:   पोस्ट ऑफिस की स्मॉल सेविंग में दो तरह से वसूला जाता है, टैक्स यहां जानें पूरी प्रक्रिया

अगर आप भी निवेश के लिए एक अच्छी स्कीम को खोज रहे हैं, तो पोस्ट ऑफिस की किसान विकास पत्र स्कीम आपके लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकती है...

लोकेश निरवाल
लोकेश निरवाल
Kisan Vikas Patra Scheme
Kisan Vikas Patra Scheme

लोग अपने पैसे के निवेश को लेकर बेहद सतर्क रहते हैं. अगर आप भी अपने पैसे को सुरक्षित और अच्छी जगह निवेश करना चाहते हैं, तो पोस्ट ऑफिस की स्मॉल सेविंग (post office small saving) आपके लिए बेहतर ऑप्शन हो सकता है. देश के ज्यादातर लोग पोस्ट ऑफिस की स्कीम में निवेश करते हैं, क्योंकि यह संस्था देश की सबसे भरोसेमंद संस्थाओं में से एक है.

भारत सरकार भी पोस्ट ऑफिस की स्कीम (post office scheme) की गारंटी देती है, जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग इस स्कीम से जुड़कर लाभ उठा सके. पोस्ट ऑफिस की स्मॉल सेविंग की सबसे अच्छी खासियत यह है, कि इसमें 124 महीने में निवेश की राशि डबल आपको दी जाती है.

तो आइए पोस्ट ऑफिस की स्मॉल सेविंग की खासियत और टैक्स प्रक्रिया के बारे में जानते है...

पोस्ट ऑफिस स्कीम की खासियत (Features of Post Office Scheme)

आपको बता दें कि पोस्ट ऑफिस (post office) की इस स्कीम में आपके निवेश पर 6.9 प्रतिशत तक ब्याज दर दी जाती है. ऐसे में आपका पैसा लगभग 10 साल में दोगुना हो जाता है. इस स्कीम को आप एक 1000 रूपए के निवेश के साथ भी शुरू कर सकते हैं और वहीं इसमें निवेश की कोई अधिकतम सीमा तय नहीं की गई है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस स्कीम में निवेश करने से आपको इनकम टैक्स की धारा 80C (Section 80C of Income Tax) के तहत विशेष छूट दी जाती है.

पोस्ट ऑफिस की स्कीम में टैक्स प्रक्रिया (Tax procedure in post office scheme)

किसान विकास पत्र स्कीम (Kisan Vikas Patra Scheme) में निवेश किए गए पैसे पर आपसे दो तरह से इनकम टैक्स लिया जाएगा. एक कैश बेसिस टैक्सेशन (cash basis taxation) और वहीं दूसरा सालाना ब्याज पर लगने वाला टैक्स.

ये भी पढ़े ः पोस्ट ऑफिस की ये शानदार स्कीम करेगी आपके बुढ़ापे को सुरक्षित, मिलेगा बेहतर रिर्टन

अगर आप पहले ऑप्शन को चुनते है, तो आपको कैश बेसिस पर मैच्योरिटी (Maturity on Cash Basis) के समय मिली राशि पर ब्याज के हिस्से पर टैक्स देना होगा. अगर आप दूसरे ऑप्शन को चुनते है.

तो आपके निवेश पर सालाना टैक्स (annual tax) लिया जाएगा. इन दोनों में से आप अपनी सुविधा के अनुसार किसी भी एक विकल्प को चुन सकते हैं.

English Summary: Tax is collected in two ways in the small savings of the post office Published on: 19 April 2022, 05:05 IST

Like this article?

Hey! I am लोकेश निरवाल . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News