MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. सरकारी योजनाएं

Kusum Scheme: सोलर पंप के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू, जानिए अंतिम तारीख, पात्रता, जरूरी दस्तावेज़ और आवेदन प्रक्रिया

अगर आप एक किसान है, तो आपके लिए यह खबर पढ़ना बहुत ज़रूरी है. दरअसल, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (Ministry of New & Renewable Energy) ने कुसुम योजना (Kusum Scheme) में आवेदन करने की प्रक्रिया को आगे बढ़ा दिया है. अब किसान इस योजना का लाभ उठाने के लिए 1 दिसंबर तक आवेदन कर सकते हैं. बता दें कि इससे पहले योजना में आवेदन करने की अंतिम तारीख 5 नवंबर तक की थी.

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
kusum scheme

अगर आप एक किसान है, तो आपके लिए यह खबर पढ़ना बहुत ज़रूरी है. दरअसल, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (Ministry of New & Renewable Energy)  ने कुसुम योजना (Kusum Scheme) में आवेदन करने की प्रक्रिया को आगे बढ़ा दिया है. अब किसान इस योजना का लाभ उठाने के लिए 1 दिसंबर तक आवेदन कर सकते हैं. बता दें कि इससे पहले योजना में आवेदन करने की अंतिम तारीख 5 नवंबर तक की थी.

सभी जानते हैं कि आज भी कई किसान भाई खेतों में सिंचाई की उचित व्यवस्था न होने की परेशानी से जूझ रहे हैं. ऐसे में केंद्र सरकार की किसान उर्जा सुरक्षा और उत्थान महाअभियान (कुसुम) योजना बहुत महत्वाकांक्षी मानी जाती है, क्योंकि यह योजना सिंचाई में इस्तेमाल होने वाले सभी डीजल/बिजली के पंप को सोलर ऊर्जा से चलाने के लिए बनाई गई है. जानकारी के लिए बता दें कि केंद्र सरकार के आम बजट 2018-19 में ततकालीन पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कुसुम योजना का ऐलान किया था. इस योजना के तहत किसानों को सोलर पंप सब्सिडी दी जाती है. इससे डीजल की खपत और कच्चे तेल के आयात पर रोक लगाने में मदद मिलेगी.

कुसुम योजना क्या है? (What is Kusum scheme?)

  • किसानों को सौर ऊर्जा उपकरण स्थापित करने के लिए 10% राशि का भुगतान करना होगा.

  • केंद्र सरकार किसानों को बैंक खाते में सब्सिडी देती है.

  • सौर ऊर्जा के लिए प्लांट बंजर भूमि पर लगाए जाते हैं.

  • बैंक किसानों को लोन के रूप में 30% राशि देती है.

  • सोलर पंप की कुल लागत पर 60% की सब्सिडी दी जाती है.

scheme

कुसुम योजना के फायदेमंद (Kusum Scheme Beneficial for Farmers)

इस योजना से देशभर के किसानों को दो तरह से लाभ मिलता है. एक तो उन्हें सिंचाई के लिए फ्री में बिजली मिल जाती है और दूसरे ये कि किसान अतिरिक्त बिजली बनाकर ग्रिड को भेज सकते हैं. इससे किसानों की आमदनी में भी बढ़ोतरी होती है. खास बात यह है कि किसानों को सौर ऊर्जा उपकरण लगवाने के लिए सिर्फ़ 10% राशि का भुगतान करना होता है. बाकी राशि केंद्र सरकार द्वारा किसानों को बैंक खाते में सब्सिडी के तौर पर भेजी जाती है. इतना ही नहीं, कुसुम योजना के तहत बैंक किसानों को लोन के रूप में 30% राशि मिलती है, तो वहीं केंद्र सरकार किसानों को सब्सिडी के रूप में सोलर पंप की कुल लागत का 60% देती है.  

कुसुम योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया (Online Application Process for Kusum Yojana)

  • सबसे पहले कुसुम योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://kusum.online/ पर जाना होगा.

  • इसके बाद होम पेज खुलकर आएगा, यहां आवेदन करने के लिए क्लिक करें और Kusum Scheme का फॉर्म सही जानकारी के साथ भरें.

  • फॉम भरने के दौरान मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि सही दें. सभी जानकारी भरकर सबमिट बटन पर क्लिक करें.

  • जब ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाए, तो Kusum Yojana की आधिकारिक वेबसाइट पर लॉग इन (login) करें.

  • अब कुसुम सोलर योजना के अंतर्गत भारे गए फॉर्म को सबमिट कर दीजिए.

  • इस तरह आवेदन पूरी प्रक्रिया पूरी हो जाएगी.

अगर किसी किसान भाई को कुसुम योजना के बारे में अधिक जानकारी लेनी है, तो वह https://mnre.gov.in/# पर जाकर विजिट कर सकते हैं.

English Summary: Register in Kusum Yojana by 1 December Published on: 21 November 2020, 04:06 IST

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News