MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. सरकारी योजनाएं

गाय व भैंस पालन में मिलेगी इतने फीसदी की छूट, जानें किसे मिलेगा इसका फायदा

सरकार की तरफ से चलाई जा रही एक योजना के तहत पालकों को गाय व भैंस खरीदने पर 50 फीसदी की छूट दी जा रही है, जानें किसे मिल रहा इस योजना का लाभ..

निशा थापा
निशा थापा
Government is giving upto 50% subsidy on cow and murrah buffalo
Government is giving upto 50% subsidy on cow and murrah buffalo

सरकार की तरफ से किसानों और पशुपालकों को बढ़ावा देने के लिए अनेकों योजनाएं शामिल है, ऐसे ही एक योजना के तहत सरकार की तरफ से गाय व भैंस पालन पर 50 फीसदी की सब्सिडी दी जा रही है. ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि के बाद पशुपालन ही आय का दूसरा महत्वपूर्ण स्रोत माना जाता है. पशु न केवल दूध देने का काम करते हैं, बल्कि दूध के अलावा जानवरों का मल भी खेतों में प्राकृतिक खाद के रुप में कार्य करता है. दूध एक ऐसा पेय पदार्थ है जो हमारी सेहत के लिए काफी लाभदायक होता है इसमें कैल्शियम, विटामिन्स, मिनरल्स आदि सारे पोषक तत्वों भरपूर मात्रा में होते हैं. दूध शारिरिक विकास के साथ-साथ मानसिक विकास में भी बहुत सहायक है. ऐसे में सरकार की तरफ से दूधारु पशुओं गाय व भैंस पालन पर सब्सिडी दी जा रही है.

गौ पालन पर मिलेगी 10800 रुपये सालाना सहायता राशि

गाय केवल दूध देने का काम करती है बल्कि हिन्दू धर्म में गौ माता को पूजनीय माना जाता है. प्राकृतिक खेती में गोबर व गौ-मूत्र की महत्वपूर्ण भूमिका है. ऐसे ही मध्य प्रदेश सरकार द्वारा एक योजना चलाई जा रही जिसमें किसानों को गाय के लिए राज्य सरकार प्रतिमाह 900 रुपये उपलब्ध करा रही है. यानि कि यदि कोई पालक गाय को खरीदता है तो उसे मध्य प्रदेश सरकार की तरफ से सालाना 10,800 की सहायता राशि दी जाएगी. जिससे पालकों को चारें के खर्चे से राहत मिलेगी.

मुर्रा भैंस खरीदने पर मिलेगी 50 फीसदी की आर्थिक सहायता

मध्य प्रदेश सरकार के दिए आदेश के मुताबिक राज्य सरकार हरियाणा से मुर्रा भैंसों को मंगवा रही है, इस योजना के तहत सरकार 50 प्रतिशत की छूट पर पालकों को मुर्रा भैंस देगी. तो वहीं एसटी (SC), एससी (ST) वर्ग के पालकों के लिए सरकार की तरफ से 75 फीसदी की छूट दी जा रही है. आपको बता दें कि एक मुर्रा भैंस की कीमत करीब 1 लाख रूपए के आसपास है, तो वहीं एक दिन में मुर्रा भैंस 12 से 15 लीटर दूध देती है.

बताया जा रहा कि एक पालक 2 भैंसें खरीद सकता है जिसमें एक गर्भवती तथा दूसरी बच्चे के साथ भैंस शामिल होगी. बता दें कि इन भैंसों को खरीदने पर 5 साल तक पशुपालकों को इन्हें अनिवार्य रुप से रखना होगा.

यह भी पढ़े :  बकरी पालन पर सरकार दे रही 60 प्रतिशत सब्सिडी, अब इस तरह करना होगा आवेदन

जाहिर है कि सरकार की तरफ से चलाई जा रही इन योजनाओं में पालकों तथा किसानों को लाभ मिलेगा, तथा पशुओं के गोबर का प्रयोग खेतों में प्राकृतिक खाद के रुप में भी हो सकेगा, जिससे रासायनिक खाद से जमीन को हो रहे नुकसान में कमी आएगी और फसल की पैदावार भी उच्च गुणवत्ता वाली होगी

English Summary: mp government is giving subsidy on dairy cattle like cow and murrah buffalo Published on: 11 June 2022, 12:45 IST

Like this article?

Hey! I am निशा थापा . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News