Jan Dhan Accounts: मोदी सरकार ने 20 करोड़ जन-धन खाते में भेजे 500 रुपए, इस नंबर के आधार पर आएगी बारी

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

मोदी सरकार द्वारा महिलाओं के लिए अहम योजना चलाई जा रही है. इस योजना का लाभ देश की तमाम महिलाएं उठा रही हैं. इस योजना के तहत महिलाओं के खाते में सीधे राशि भेजी जाती है. इसी कड़ी में जन-धन खाते वाली महिलाओं के लिए एक बड़ी खुशखबरी है. दरअसल, सरकार ने महिलाओं के जन-धन खातों में 500 रुपए की किस्त डालनी शुरू कर दी है. इस वक्त पूरे देश पर कोरोना वायरस की मार पड़ रही है. सभी लोग घरों में कैद हैं. ऐसे में सरकार का पूरा प्रयास है कि वह गरीबों को आर्थिक मदद पहुंचा सके.

कई महिलाओं को मिली राहत

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के तहत घोषणा की गई थी कि सभी महिला जन-धन खातों में 3 महीने तक 500 रुपए डाले जा रहे हैं. इसके मुताबिक, सभी महिला जन-धन खातों में 500 रुपए की पहली किस्त डाली गई है. बता दें कि देश को कोरोना महामारी से बचाने के लिए सरकार ने 25 मार्च से 21 दिन का लॉकडाउन घोषित कर दिया है. ऐसे में सभी सरकार सभी जरूरतमंदों की मदद कर रही है.

इस तरह मिलेगा बैंक से पैसा  

इस वक्त सभी लोगों को सामाजिक दूरी बनाए रखना है. ऐसे में सभी लाभार्थी खाते से पैसा निकाल पाएं, इसके लिए बैंक ने एक शेड्यूल तैयार किया गया है. इस शेड्यूल को लाभार्थियों के बैंक खाते के अंतिम नंबरों पर तैयार किया गया है. मतलब, जिन महिला जन-धन खाते का आखिरी नंबर 0 या 1 है, उन्हें 3 अप्रैल 2020 को बैंक जाकर पैसा निकालना होगा. इसके अलावा जिन महिला जन-धन खातों का आखिरी नंबर 2 या 3 हैं, उन्हें 4 अप्रैल 2020 को पैसा निकालना होगा. इस तरह जिन लाभार्थियों के खाते का आखिरी नंबर 4 या 5 हैं, उन्हें 7 अप्रैल 2020 को, 6 या 7 वाले नंबर 8 अप्रैल 2020 और 8 या 9 नंबर वाले 9 अप्रैल 2020 को पैसा निकाल सकते हैं. बता दें कि इसके बाद यानी 9 अप्रैल के बाद लाभार्थी किसी भी कामकाजी वाले दिन बैंक जाकर पैसा निकाल सकते हैं.

English Summary: modi government will deposit rs 500 in 20 crore jan dhan account

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News