MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. सरकारी योजनाएं

Lottery! किसानों के पास 'फ्री कृषि यंत्र' पाने का जबरदस्त मौका, जल्द करें आवेदन

फ्री कृषि यंत्र योजना में सरकार ने किसानों को सब्सिडी पर कृषि मशीनरी उपलब्ध कराने के लिए एक विशेष योजना शुरू की है. इसी प्रकार मध्यप्रदेश में भी इसी प्रकार की योजना के तहत किसानों को सब्सिडी पर कृषि की व्यवस्था प्रदान की जा रही है. योजना के अनुसार 40 से 50% अनुदान दिया जाता है.

रुक्मणी चौरसिया
रुक्मणी चौरसिया
Agricultural Machinery Subsidy
Agricultural Machinery Subsidy

केंद्र सरकार और राज्य सरकार ने मिलकर किसानों के लिए एक नई योजना शुरू की है, जिसका नाम ई कृषि यंत्र लॉटरी (E krishi Yantra Lottery 2022) है. इस योजना के तहत किसानों को खेती के काम में किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा. फ्री कृषि यंत्र योजना (Free Agricultural Machinery Scheme) में सरकार ने किसानों को सब्सिडी पर कृषि मशीनरी (Agricultural Machinery Subsidy) उपलब्ध कराने के लिए एक विशेष योजना शुरू की है. इसी प्रकार मध्यप्रदेश में भी इसी प्रकार की योजना के तहत किसानों को सब्सिडी पर कृषि की व्यवस्था प्रदान की जा रही है.

किसानों को लॉटरी का मिला मौका (Farmers got lottery chance)

कुछ दिन पूर्व प्रदेश के किसानों की ओर से कृषि यांत्रिकी निदेशालय भोपाल (Directorate of Agricultural Engineering Bhopal) की ओर से किसानों ने पावर लीटर, रीपर कम बाइंडर एवं मल्चर लेजर लैंड एवं लेवलर ब्लेड आदि की मांग की थी. जिसके चलते लॉटरी के माध्यम से किसानों का चयन किया गया है. प्रत्येक राज्य में किसानों से केवल 10% आवेदन ही लिए गए जिसे लॉटरी सूची भी जारी किया गया था.

किसानों को मिलती है खेती की मशीनों पर सब्सिडी (Farmers get subsidy on farming machines)

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में विभिन्न श्रेणियों के किसानों को विभिन्न प्रकार की योजना के अनुसार 40 से 50% अनुदान दिया जाता है. कुछ ई कृषि यंत्र लॉटरी 2022 मशीनें (E Krishi Yantra Lottery 2022 Machines) ऐसी हैं कि किसानों द्वारा उनका बहुत कम उपयोग किया जाता है.

जिसके कारण ऐसे सभी यात्रियों को सरकार द्वारा पैन सब्सिडी नहीं दी जाती है. चूंकि ऐसी मशीनों की आवश्यकता किसानों को किसी अति आवश्यक कार्य के लिए होती है. मध्य प्रदेश की राज्य सरकार भी ऐसी मशीनों पर किसानों को सब्सिडी देती है.

अपनी जरूरत को देखते हुए चुने कृषि यंत्र (Choose agricultural machinery according to your need)

मध्य प्रदेश में निःशुल्क कृषि यंत्र सरकारी योजना के तहत शहर में कृषि मशीनरी का लाभ लेने के लिए किसानों को ई-कृषि यंत्र अनुदान पोर्टल (e-Krishi Yantra Grant Portal) पर अपना नामांकन कराना होगा.

मध्य प्रदेश के किसानों को कृषि मशीनरी पर 50% तक लाभ की योजना दी जाती है. इन सात प्रकार की कृषि मशीनरी का लाभ लेने के लिए राज्य के किसान अपनी आवश्यकता के अनुसार अनुदान पर आवेदन करते हैं.

कैसे करें फ्री कृषि यंत्र पाने के लिए आवेदन (How to Apply for Free Agricultural Machinery)

मध्य प्रदेश राज्य के अंतर्गत आने वाले सभी जिले के किसान अपने जिले में कृषि मशीनरी के लिए आवेदन कर सकते हैं. राज्य के सभी किसान अपनी इच्छानुसार किसी भी यात्रा के लिए आवेदन कर सकते हैं. मध्य प्रदेश के किसान ई विभाग का पोर्टल https://dbt.mpdage.org  पर क्लिक करके आप कृषि मशीनरी के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं.

आवश्यक दस्तावेज़ (Required Documents)

  • जब भी आप ई-कृषि यंत्र सब्सिडी योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन करने जाएं तो इन सभी को अपने साथ रखें या ऑनलाइन अपडेट करें.

  • आधार कार्ड

  • बैंक पासबुक के पहले पेज की फोटो कॉपी

  • जाति प्रमाण पत्र (केवल एससी और एसटी किसानों के लिए)

  • भूमि रसीद

कृषि यंत्र सूची ऐसे जांचे अपना नाम (Check your name on agricultural machinery list like this)

सभी किसान जिन्होंने किसान विभाग के पोर्टल https://dbt.mpdage.org  के लिए आवेदन किया था, आप सूची में जाकर अपना नाम देख सकते हैं. इंजीनियरिंग निदेशालय ने कुछ किसानों के आवेदनों की सूची भी जारी की थी. जिनके आवेदन में बेड ड्राफ्ट की जगह गलत जानकारी भरी गई थी, इसलिए उनका आवेदन खारिज कर दिया गया था.

English Summary: Lottery! Farmers have tremendous opportunity to get 'free agricultural machinery', apply soon Published on: 21 January 2022, 12:38 IST

Like this article?

Hey! I am रुक्मणी चौरसिया. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News