PM Jan-Dhan Yojana: जन-धन खाते से निकालना है रुपए, तो इन 4 आसान तरीकों को अपनाएं

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री जन धन योजना (Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana) के तहत महिलाओं के खाते में राशि डालना शुरू कर दिया है. जन-धन खाताधारकों को 3 महीने तक 500 रुपए दिए जाएंगे. इस तरह केंद्र सरकार प्रयास कर रही है कि लॉकडाउन में सभी लोगों को राहत पहुंचाई जा सके. अब एक सवाल उठता है कि कोरोना संकट के बीच जन-धन खाताधारक अपने खातों से रुपए कैसे निकाल पाएंगे. अगर आपके मन में भी यही सवाल उठ रहा है, तो आप परेशान न हों. आप लॉकडाउन में भी आसानी से रुपए निकाल सकते हैं.

कैसे निकालें जन-धन खाते की राशि

वित्तीय सेवाएं विभाग की तरफ से जानकारी दी है कि कोरोना संकट के बीच भी जन-धन खाताधारक आसानी से रुपए निकाल सकते हैं. इसके लिए जन-धन खाताधारक को केवल आस-पास स्थित एटीएम मशीन, पास के बैंक मित्र, सीएसपी आदि के पास जाना होगा. इनकी सहायता से जन-धन खाते से रुपए निकाल सकते हैं.

विभाग के मुताबिक...

कोरोना वायरस की वजह से सभी लोग घरों में कैद हैं. इस वक्त जन-धन खाताधारक बाहर न निकले, इसलिए केंद्र सरकार ने निर्देश दिया है कि पीएम जन-धन योजना के तहत ही महिलाओं के खाते में 500 रुपए भेजे जा रहे हैं. बता दें कि यह राशि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के तहत भेजी जा रही है. इस एटीएम मशीन की सुविधा भी एकदम मुफ्त है. यानी एटीएम मशीन से रुपए निकालने में किसी तरह की चार्ज नहीं लगेगा.

खाताधारक सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें

सरकार ने अपील की है कि अगर जन-धन खाताधारक बैंकों से राशि निकालने जाते हैं, तो उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखना होगा. बता दें कि बैंकों द्वारा एक सूची तैयार की गई है. इसमें खाता नंबर के आधार पर अलग-अलग दिनों में खाताधारक को बैंक आने के लिए कहा गया है. जिनके खाते का नंबर 0 और 1 है, वे शुक्रवार को बैंक जाएं. इसके अलावा 1 या 2 नंबर वाले खाताधारक शनिवार, 3 या 4 नंबर वाले खाताधारक को सोमवार को बैंक शाखा में आने के लिए कहा गया है. यह प्रक्रिया कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लागू की गई है.  

ये खबर भी पढ़ें: Poultry Industry: पोल्ट्री इंडस्ट्री को राहत, मांस-मछली और अंडे की होगी खुली ब्रिकी

English Summary: jan dhan account holders can easily withdraw 500 rupees from the account

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News