Government Scheme

कृषि लोन, पीएम किसान पेंशन योजना और पीएम किसान समेत केंद्र सरकार की वो योजनाएं जिनका लाभ कोई भी Kisan उठा सकता है !

देश में किसानों के हाल बहुत ज्यादा अच्छे नहीं हैं और वो अक्सर कभी बारिश तो कभी सूखे की वजह से परेशान रहते हैं. किसानों के इन्हीं हालातों को देखते हुए मोदी सरकार द्वारा खेती-किसानी से जुड़ी कोई योजनाओं की शुरुआत की गई है. खेती-किसानी का बजट भी 140 फीसद बढ़ा दिया गया है जिसका किसानों को लाभ भी मिल रहा है. मोदी सरकार की सबसे तेजी से लोकप्रिय हो रही PM kisan Samman nidhi Yojna की बात करें तो अभी तक इस योजना से 9 करोड़ से ज्यादा किसान जुड़ चुके हैं. गौरतलब है कि केंद्र सरकार की ओर से देश के 14 करोड़ किसानों को इस योजना से जोड़ने का लक्ष्य तय किया गया है. पीएम किसान योजना के लिए अभी भी रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया जारी है और इस काम को ऑनलाइन भी किया जा सकता है. हालांकि खेती से जुड़ी योजनाओं का लाभ पाने के लिए कुछ लोग फर्जी किसान बन रहे हैं.ऐसे में आइए जानते है मोदी सरकार की उन योजनाओं के बारे में जिनका लाभ कोई भी किसान उठा सकता है -

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम (PM kisan Samman nidhi Yojna)

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना भारत के लघु एवं सीमांत किसानों के लिए समर्पित है. इसका उद्देश्य देश के किसानों की आय में वृद्धि करने के लिए आर्थिक मदद करना है. इस योजना के तहत देश के तकरीबन 14 करोड़ किसानों को हर साल दो-दो हजार की 3 किश्तें मिलेंगी यानी साल में हर लाभार्थी किसान को 6 हजार रुपये केंद्र सरकार के द्वारा आर्थिक मदद के रूप में दिए जाएंगे.

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana)

कृषि मंत्रालय के मुताबिक फसल बीमा योजना के तहत 2016 से अब तक देश भर में किसानों को 47,600 करोड़ रुपये के क्लेम का भुगतान किया गया. इसके तहत आप फसलों का बीमा करवाकर उसे सुरक्षित कर सकते हैं.

कृषि मशीनरी बैंक (Agricultural Machinery Bank)

खेती-किसानी में काम आने वाली मशीनों का बैंक बनाकर कृषि से जुड़ा कोई भी व्यक्ति अच्छा लाभ कमा सकता है. मशीन खरीदने में सरकार मदद देगी और आप उसे किराये पर चला सकेंगे. इसके तहत आप 60 लाख रुपये तक का प्रोजेक्ट पास करवा सकते हैं. इस पर 40 परसेंट यानी 24 लाख रुपये सरकार लगाएगी. कोऑपरेटिव ग्रुप बनाकर भी आप मशीन बैंक तैयार कर सकते हैं. ग्रुप में अधिकतम 10 लाख रुपये का प्रोजेक्ट पास होगा.

स्वायल हेल्थ कार्ड (Soil health card)

खेती की सेहत कैसी है उसमें किस खाद की जरूरत है और किसकी नहीं, अगर किसान को यह बात पता चल जाए तो खादों का इस्तेमाल कम हो जाएगा. फसल अच्छी होगी. इसलिए मोदी सरकार ने स्वायल हेल्थ कार्ड की योजना शुरू की. 2015 से 2017 तक 10.73 करोड़ और 2017 से 2019 तक 10.69 करोड़ स्वायल हेल्थ कार्ड बांटे गए.

जैविक खेती का प्रोत्साहन (Promotion of organic farming)

रासायनिक खादों से पैदा होने वाले अनाज और साग-सब्जियों से लोगों की सेहत खराब हो रही है. इसलिए सरकार ने जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए परंपरागत कृषि विकास योजना शुरू की. कृषि मंत्रालय के मुताबिक इस समय देश में 27.10 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में जैविक खेती हो रही है.

सबसे सस्ता कृषि लोन (Agricultural loan)

अगर आप किसान हैं तो खेती-किसानी, पशुपालन और मछलीपालन के लिए मात्र 4 फीसदी ब्याज दर पर लोन मिलेगा. खेती के लिए 3 लाख और मछलीपालन-पशुपालन के लिए 2 लाख रुपये तक का लोन मिल जाएगा.

पीएम किसान पेंशन योजना (PM Kisan Pension Scheme)

मोदी सरकार ने पीएम किसान पेंशन योजना के तहत किसानों को भी पेंशन देने का फैसला किया है. इसका फायदा पाने के लिए किसानों को हर महीने औसतन 100 रुपये का योगदान देना होगा. किसान की उम्र 60 साल पूरी होने पर उसे हर महीने 3,000 रुपये पेंशन मिलेगी.



English Summary: Central government schemes including agricultural loans, PM Kisan Pension Yojana and PM Kisan, which any Kisan can avail !

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in