1. सरकारी योजनाएं

PM Awas Yojana लाभार्थियों को मिल सकती है एक और बड़ी सुविधा, जानिए

स्वाति राव
स्वाति राव

PM Awas Yojna

प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) केंद्र सरकार द्वारा चालू की गई एक योजना है. जिसके तहत केंद्र सरकार आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को आवास देने की सुविधा प्रदान करती है. इस योजना में एक और नयी कड़ी को जोड़ा गया है, जिसमें लाभार्थी को अब घर के साथ- साथ जीवन बीमा की भी सुविधा प्राप्त होने की सम्भावना है.

दरअसल, सीआईआई ने सरकार से आवास योजना के साथ लाभार्थियों को जीवन बीमा का फायदा देने की मांग की है.  ऐसे में यदि सरकार पीएम आवास योजना के साथ जीवन बीमा की भी सुविधा जोड़ लेती है, तो यह योजना लोगों के लिए बहुत लाभकारी सिद्ध होगी. इस योजना के लाभार्थी को पीएम आवास योजना के लोन के साथ बीमा का लाभ भी मिल सकेगा. जिसमें व्यक्ति के घर का खर्च भी चलता रहेगा और घर बनने का काम भी नहीं रुकेगा.

प्रधानमंत्री आवास योजना की शर्तें  (Conditions of Pradhan Mantri Awas Yojana)

  • आवेदनकर्ता या उसके परिवार के किसी भी सदस्य के नाम पक्का घर नहीं होना चाहिए.

  • सरकार की किसी भी हाउसिंग स्कीम का लाभ परिवार का कोई भी सदस्य ना लेता हो.

  • शादीशुदा, सिंगल और ज्वॉइंट स्वामित्व दोनों की अनुमति है, मगर योजना का लाभ एक को ही मिलेगा.

  • इस योजना के तहत लाभार्थियों को सिर्फ एक नई रेसिडेंशियल प्रॉपर्टी खरीदने या बनाने की अनुमति मिलती है.

  • आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों, महिलाओं (किसी भी जाति या धर्म की) और अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोग इस योजना का लाभ ले सकते हैं.

पीएम आवास योजना की रकम बढ़ेगी (The Amount of PM Awas Yojana Will Increase)

प्रधानमंत्री पीएम आवास योजना के लाभार्थियों के लिए एक अहम खबर है दरसल, झारखण्ड विधानसभा की प्राक्कलन समिति ने राज्य में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर बनने के लिए चार लाख रूपए देने की अनुशंसा की है.

जिसमें माना जा रहा है की अगर ये प्रस्ताव प्रधानमंत्री द्वारा स्वीकृत होता है तो आने वाले दिनों में लोगों को पीएम योजना के तहत पहले की अपेक्षा 3 गुना अधिक पैसा मिलेगा. 

योजनाओं से सम्बंधित जानकारी जानने के लिए जुड़े रहिये कृषि जागरण हिंदी पोर्टल से.

English Summary: Beneficiaries can get another big facility, know what

Like this article?

Hey! I am स्वाति राव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News