1. सरकारी योजनाएं

10,000 रुपये के साथ बिजली और चावल मुफ्त

असम में भाजपा की अगुवाई वाली सरकार का आखिरी पूर्ण बजट पेश करते हुए, वित्त मंत्री हेमंत बिस्व शर्मा ने  को लोगों को कई तरह के नकद प्रोत्साहन देने की घोषणा की, जिसमें 27 लाख गरीब परिवारों को 10,000 रुपये की वार्षिक मदद और 58 लाख परिवारों को मुफ्त चावल देना शामिल है. गौरतलब है कि दिल्ली में अरविंद केजरीवाल की अगुवाई वाली आम आदमी पार्टी सरकार की तर्ज पर चलते हुए शर्मा ने हर महीने 30 यूनिट से कम बिजली खर्च करने वाले परिवारों को फ्री में बिजली देने और राज्य की राजधानी में महिलाओं, वरिष्ठ नागरिकों और बेरोजगार युवाओं को फ्री बस यात्रा की सुविधा देने का प्रस्ताव रखा.

चाय उद्योग को कृषि आयकर से तीन साल के लिये छूट

उन्होंने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए 1,249.50 करोड़ रुपये के घाटे का बजट प्रस्तुत किया और पेट्रोल तथा डीजल के करों में 50 पैसे की कटौती की घोषणा की. इसके अलावा चाय उद्योग को कृषि आयकर छूट देने की बात भी कही.

चाय बागान कामगारों, बेरोजगार युवाओं पर केन्द्रित बजट

शर्मा ने अपने बजट भाषण में राज्य सरकार की पिछले चार साल की उपलब्धियों को गिनाया. वर्ष 2020- 21 का यह बजट राज्य के वित्त मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट पर पेश होने से कुछ घंटे पहले ही अपलोड कर दिया गया. इस बजट में चाय बागान कामगारों, बेरोजगार युवाओं और गरीब परिवारों पर खास ध्यान दिया गया है.

English Summary: Assam Budget 2020-21: Electricity and rice free besides annual help of Rs 10,000!

Like this article?

Hey! I am विवेक कुमार राय. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News