MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. सरकारी योजनाएं

Farm Machinery Subsidy Schemes: केंद्र सरकार इस योजना में दे रही 90% का अनुदान, अब किसानों की होगी चांदी-चांदी!

कृषि कार्यों को आसान बनाने के लिए आधुनिक कृषि यंत्रों का विकास किया गया है, जो ना सिर्फ किसानों की लागत कम करती है, बल्कि उनका समय बचाने में भी मदद करती हैं. ऐसे में कृषि यंत्रों पर मोदी सरकार की सब्सिडी स्कीम के बारे में आइये जानते हैं.

रुक्मणी चौरसिया
रुक्मणी चौरसिया

मोदी सरकार (Modi Government) किसानों को भर-भर के सौगात दे रही है. किसानों को आगे बढ़ाने के लिए उनके प्रशिक्षण (Farmers Training Sessions) से लेकर कृषि यंत्रों पर अनुदान (Subsidy on Agriculture Machinery) देने जैसे योजनाओं को आगे ला रही है, ताकि किसानों की आय दोगुनी हो सके. ज़ाहिर-सी बात है कि जब किसानों की फसलें उन्नत वाली होंगी, तो देश का आर्थिक विकास खुद पर खुद बढ़ता चला जायेगा.

आधुनिक कृषि यंत्रों की महत्वता (Importance of modern agricultural machinery)

आधुनिक तरीकों से खेती (Advance Farming Techniques) करके फसल उत्पादन और उत्पादकता बढ़ाने के लिए किसानों के पास उन्नत बीज, रासायनिक उर्वरक, कीटनाशक और सिंचाई के लिए पानी के साथ सही समय पर कृषि कार्य (Farming Activities) करने के लिए आधुनिक कृषि उपकरण (Advance Agri Technology) होना चाहिए. आधुनिक कृषि यंत्र न केवल कृषि विकास को गति देते हैं बल्कि किसानों की आर्थिक स्थिति भी मजबूत होती है.

कृषि यंत्रों के लिए केंद्र सरकार की योजनाएं (Central government schemes on agricultural machinery)

आज के समय में कृषि कार्य आधुनिक कृषि उपकरणों से ही सही तरीके से संभव किए जा सकते हैं. ऐसे में जुताई, बुवाई, सिंचाई, कटाई, कटाई और भंडारण (Tillage, sowing, irrigation, harvesting, harvesting and storage) के लिए मोदी सरकार की ओर से कई तरह की योजनाएं चलाई जा रही हैं, जिससे किसान अच्छा लाभ ले सकते हैं.

किसानों के लिए अन्य योजनाएं (Other schemes for farmers)

इसके अलावा, समय-समय पर देश के विभिन्न योजनाओं के तहत देश के किसानों को उनकी श्रेणी के अनुसार सब्सिडी प्रदान (Different Types of Subsidy Schemes for Farmers) की जाती है, जो आधुनिक कृषि उपकरण खरीदने में असमर्थ हैं.

भारत में विशिष्ट मशीनों के लिए सब्सिडी (Subsidy for specific machines in India)

एक किसान के काम को आसान बनाने के लिए, खेती की मशीनें बहुत महत्वपूर्ण रोल निभाती हैं. हालांकि, मशीनों की लागत काफी अधिक है और इस प्रकार यह किसानों के लिए वहनीय नहीं है. इसलिए, सरकार ने कई मशीनों पर सब्सिडी स्कीम (Subsidy Scheme on Machines) चलाई हुई है, जिससे किसान की भागीदारी एडवांस फार्मिंग में बढ़ सके. साथ ही आवश्यक उपकरण और मशीनें खरीदने के लिए उनकी आर्थिक मदद करे सकें.

कृषि यंत्रों के लिए सब्सिडी योजनाएं (Subsidy Schemes for Agricultural Machinery)

उदाहरण के लिए, झारखंड भूमि संरक्षण विभाग मशीन खरीदने के लिए महिला प्रतिष्ठानों को 90% सब्सिडी प्रदान करता है. इसके अलावा, केंद्र सरकार की ओर से कृषि मशीनरी के अनुदान के लिए राष्ट्रीय कृषि विकास योजना (Rashtriya Krishi Vikas Yojana- RKVY), राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन (National Food Security Mission- NFSM), कृषि मशीनीकरण पर उप-मिशन (Sub-Mission on Agricultural Mechanization- SMAM), भारत में नाबार्ड ऋण योजना (NABARD loans in India) चलाई जा रही है.

कौन सी कृषि मशीनरी पर मिलती है सब्सिडी (On which agricultural machinery subsidy is available)

  • ट्रैक्टर (Tractor)

  • रोटावेटर (Rotavator)

  • लेजर लैंड लेवलर (Laser land leveler)

  • पोस्ट होल डिगर (Post Hold Digger)

  • स्ट्रॉ बेलर (Straw baler)

  • हे टेकर (Hey taker)

  • रोटरी स्लेशर (Rotary slasher)

  • न्यूमेटिक प्लांटर (Pneumatic planter)

  • धान ट्रांसप्लांटर (Paddy Transplanter)

  • डीएसआर मशीन (DSR Machine)

English Summary: agriculture machinery subsidy schemes in india, planting sowing and harvesting machines Published on: 21 March 2022, 03:03 IST

Like this article?

Hey! I am रुक्मणी चौरसिया. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News