PM Kisan Yojana: पीएम किसान के 33 लाख लाभार्थियों को लौटानी होगी 2000 रुपए की किस्त, जानिए क्या है पूरा मामला

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
PM Kisan Yojana

PM Kisan Yojana

देश के किसानों के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Yojana) बहुत महत्वाकांक्षी स्कीम है. मगर अब इस योजना का लाभ उठाने वाले किसानों को राशि लौटानी पड़ सकती है. दरअसल, इस योजना के तहत 32.91 लाख अयोग्य लाभार्थियों के खाते में 2,326 करोड़ रुपए भेजे जा चुके हैं. इसके बाद सरकार इन अयोग्य लाभार्थियों से वसूली करने वाली है.

आपको बता दें, कि इस समय देश में पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Yojana) के 11 करोड़ 53 लाख लाभार्थी हैं. हर साल मोदी सरकार इन लाभार्थियों को 6 हजार रुपए 2-2 हजार रुपए की तीन किस्तों में देती है. इस संबंध में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने संसद में कहा है कि पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) का लाभ अयोग्य लाभार्थी भी उठा रहे हैं. इनकम टैक्स देने वाले कुछ किसान भी योजना का लाभ ले रहे हैं, इसलिए राज्य सरकारें ऐसे किसानों का पता लगा रही हैं, ताकि उनके खिलाफ मामला दर्ज किया जा सके.

कौन हैं पीएम किसान योजना के अयोग्य लाभार्थी

  • कई किसानों को ये मालूम नहीं है कि अगर उनके परिवार में कोई टैक्सपेयर है, तो वह योजना का लाभ नहीं ले सकते हैं.

  • अगर पति या पत्नी में से किसी ने पिछले साल इनकम टैक्स भारा है, तो उसे इस योजाना का लाभ नहीं मिल सकता है.

  • बहुत से किसान दूसरों के खेतों पर किसानी का काम करते हैं, लेकिन खेत के मालिक नहीं होते हैं. ऐसे में उन्हें इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा.

  • अगर खेत उसके पिता या दादा के नाम है, तब भी योजना का लाभ नहीं मिल सकता है.

  • अगर कोई खेती की जमीन का मालिक है, लेकिन वह सरकारी कर्मचारी है या रिटायर हो चुका है या फिर मौजूदा या पूर्व सांसद, विधायक, मंत्री है, तो उसे योजना का लाभ नहीं मिल सकता है.

  • प्रोफेशनल रजिस्टर्ड डॉक्टर, इंजिनियर, वकील, चार्टर्ड अकाउंटेंट या इनके परिवार के लोग भी योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं.

  • अगर कोई किसान खेत का मालिक है, लेकिन उसे 10 हजार रुपए महीने से अधिक पेंशन मिल रही है, तो वह इस योजना का लाभार्थी नहीं बन सकता है.

तमिलनाडु सरकार ने वसूले 158.57 करोड़ रुपए

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने राज्यसभा को लिखित जवाब में बताया है कि इसकी खामियों को विभिन्न अधिकारियों द्वारा सत्यापन कर दूर किया जाता है. हालांकि, सत्यापन प्रक्रिया के दौरान पता चला है कि 32,91,152 अयोग्य लाभार्थियों के खातों में 2,326.88 करोड़ रुपए भेजे गए हैं. इसमें ब्लॉक/जिला स्तर के अधिकारियों की साख का दुरुपयोग अयोग्य किसानों के सत्यापन के लिए किया गया है. तमिलनाडु सरकार ने बताया है कि इसके तहत 6 लाख लोगों को अयोग्य पाया गया है, जिनसे 158.57 करोड़ रुपए की वसूली की जा चुकी है.

आपको बता दें कि करोड़ों किसान ऐसे भी हैं, जिन्हें अब तक रजिस्ट्रेशन के बावजूद एक भी किस्त नहीं मिली है. अगर आप भी इन किसानों में से एक हैं, तो आपको पता होना चाहिए कि आपके खाते में योजना का पैसा क्यों नहीं आया है. इसके लिए आप नीचे लिखे गए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं.

  • सबसे पहले आप https://pmkisan.gov.in/ पोर्टल पर जाना होगा.

  • यहां Payment Success टैब के नीचे भारत का नक्शा दिखेगा.

  • इसके नीचे Dashboard लिखा होगा. इस पर आपको क्लिक करना है.

  • अब एक नया पेज खुलकर सामने आएगा.

  • यह Village Dashboard का पेज है, जहां आप अपने गांव की पूरी डिटेल देख सकते हैं

गांव की पूरी डिटेल देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले स्टेट चुनें.

  • इसके बाद अपना जिला, फिर तहसील और फिर अपना गांव.

  • अब शो बटन पर क्लिक करें.

  • इसके बाद आपको पूरे गांव में कितने किसान रजस्टर्ड हैं, कितने को किस्त मिल रही है या किसका आवेदन रिजेक्ट हुआ आदि जानकारी मिल जाएगी.

पेमेंट स्टेटस देखने की प्रक्रिया

  • अगर आपको पेमेंट स्टेटस देखना है, तो Payment Status पर टैप या क्लिक करें.

  • यहां आपको पूरी लिस्ट दिख जाएगी.

  • अगर आप जानना चाहते हैं कि किसका पेमेंट क्यों रुका है, तो Received no payment पर क्लिक करना होगा. यहां पेमेंट नहीं आने का पूरा कारण लिखा मिल जाएगा.

  • आधार आथेंटिकेशन स्टेटस पर क्लिक करने पर नीचे आपको 4 लिस्ट दिखाई देंगी.

  • इसमें एक्सेप्ट, रिजेक्ट, इनवैलिड और पेंडिंग फॉर वेरिफिकेशन वाले लोगों के नाम होंगे.

  • आप चौथे टैब में Online Registration Status के बारे में जान सकते हैं.

ऐसे जानें अब तक कितनी किस्त मिली?

  • सबसे पहले पीएम किसान योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर जाएं.

  • यहां आपको राइट साइड पर 'Farmers Corner' का विकल्प दिखाई देगा.

  • यहां ‘Beneficiary Status' के ऑप्शन पर क्लिक करें.

  • अब एक नया पेज खुलकर सामने आएगा.

  • इस नए पेज पर आधार नंबर, बैंक खाता संख्या या मोबाइल नंबर में से किसी एक विकल्प का चुनाव करें.

  • अब जिस विकल्प का चुनाव किया है, उसका नंबर भरिए.

  • इसके बाद 'Get Data' पर क्लिक करें.

  • अब आपको सभी ट्रांजेक्शन की जानकारी मिल जाएगी. मतलब यह है कि यानी कौन सी किस्त कब आपके खाते में आई और किस बैंक अकाउंट में क्रेडिट हुई है, इसकी सारी जानकारी आपको मिल जाएगी.

अगर आपको 'FTO is generated and Payment confirmation is pending’ लिखा हुआ दिखाई दे रहा है, तो समझ जाइए कि फंड ट्रांसफर की प्रक्रिया शुरू हो गई है और योजना की अगली किस्त कुछ ही दिनों में खाते में ट्रांसफर हो जाएगी. बता दें हर साल पीएम किसान योजना ती पहली किस्त अप्रैल से जुलाई, दूसरी किस्त अगस्त से नवंबर और तीसरी किस्त दिसंबर से मार्च तक आती है.

English Summary: 33 lakh beneficiaries of PM Kisan Yojana to return installment of Rs 2000

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News