MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. खेती-बाड़ी

Wheat Variety: गेहूं की कम पानी वाली Vidhya CG 1036 किस्म की रोटियां 12 घंटे तक रहेंगी नरम

गेहूं के आटे को यदि कुछ वक्त तक रखा जाता है तो वह काला पड़ने लगता है. इसी कड़ी में आज हम गेहूं की एक ऐसी किस्म के बारे में बताने जा रहे हैं जिसकी रोटियां पूरे 12 घंटे तक नरम रहती हैं, साथ ही फसल के लिए अधिक पानी की आवश्यकता नहीं होती है....

निशा थापा
गेहूं की कम पानी वाली Vidhya CG 1036 किस्म की रोटियां 12 घंटे तक रहेंगी नरम
गेहूं की कम पानी वाली Vidhya CG 1036 किस्म की रोटियां 12 घंटे तक रहेंगी नरम

भारत में गेहूं की खेती रबी सीजन में बड़े पैमाने पर की जाती है. अपने गेहूं के बंपर उत्पादन से देश की आपूर्ती के साथ- साथ हम विदेशों की आपूर्ती भी पूरा करते हैं. मांग को देखते हुए वैज्ञानिक भी किसानों की मदद के लिए अधिक उत्पादन देने वाली किस्में विकसित करते रहते हैं. आज हम इस लेख के माध्यम से किसानों को गेहूं की एक ऐसी उन्नत किस्म की जानकारी देने जा रहे हैं, जिसके उत्पादन से किसानों के साथ- साथ आम जन को भी लाभ मिलेगा. 

क्योंकि इस गेहूं की रोटियां काफी लंबे समय तक नरम रहती हैं, और साथ ही इस गेहूं का आटा काला भी नहीं पड़ता है. वैज्ञानिकों द्वारा विकसित इस खास किस्म का नाम सीजी-1036 (Vidya CG-1036) है, जिसे हाल ही में छत्तीसगढ़ के कृषि वैज्ञानिकों द्वारा विकसित किया गया है. खास बात यह है कि यह किस्म कम पानी वाले गेहूं की किस्म है.

विद्या सीजी 1036  (Vidhya CG 1036)

गेहूं की विद्या सीजी 1036 किस्म को मध्य प्रदेशछत्तीसगढ़राजस्थान में कोटागुजरातउत्तर प्रदेश के झांसी और उदयपुर में खेती के लिए उपयुक्त माना गया है. कृषि वैज्ञानिकों की मानें तो अमूमन गेहूं की खेती के लिए 6 सिंचाई की आवश्यकता होती है. लेकिन इस किस्म में केवल 3 सिंचाईयों की ही आवश्यकता होती है. गेहूं की यह किस्म बुवाई के 114 दिनों बाद पककर तैयार हो जाती है. 

यह भी पढ़ें: Walnut Cultivation: फायदे का सौदा है अखरोट की खेती, एक बार लगाने पर 25 सालों तक मिलती है पैदावार

विद्या सीजी-1036 गेहूं की किस्म के फायदे

वैज्ञानिकों द्वारा विकसित की गई इस खास किस्म पोषण से भरपूर है. इस गेहूं में स्वास्थ्य संबंधी सभी जरुरी पोषक तत्व मौजूद हैं. बता दें कि शरबती गेहूं व सी-306 की गेहूं की किस्मों को स्वादिष्ट रोटी के लिए उपयोगी माना जाता है. लोकिन अब इस श्रेणी में विद्या सीजी-1036 को भी सम्मिलित कर दिया गया है और साथ ही विद्या सीजी 1036 किस्म की पैदावार क्षमता 39 क्विंटल से 60 क्विंटल प्रति हेक्टेयर है.

इससे बनने वाली रोटियां लंबे समय यानि की 12 घंटों तक नरम बनी रहती हैं. वैज्ञानिक कहते हैं कि इस गेहूं में पानी की मात्रा अधिक होती है और यही वजह है कि रोटियां लंबे वक्त तक नरम रहती हैं.

English Summary: Wheat Variety Vidhya CG 1036 Breads of this variety of wheat will remain soft for 12 hours. Published on: 18 November 2022, 05:17 PM IST

Like this article?

Hey! I am निशा थापा . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News