1. खेती-बाड़ी

Varieties of Grapes: जानिए अंगूर की इन किस्मों के बारे में जो देंगी कम समय में अच्छा मुनाफा

मनीशा शर्मा
मनीशा शर्मा

अंगूर काफी प्रसिद्ध फसल है इसके अलावा यह कई पोषक तत्वों का एक बड़ा स्रोत भी हैं. इसे ज्यादातर देशों में व्यापारिक तौर पर उगाया जाता है. इसकी फसल की बेल सदाबहार होती है और इसके पत्ते भी साल में सिर्फ एक बार ही झड़ते हैं. तो ऐसे में आज हम अपने इस लेख में आपको अंगूर की ऐसी कुछ किस्मों के बारे में बताएंगे जिन्हें उगा कर आप अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं तो आइए जानते हैं अंगूर की इन किस्मों (Varieties of Grapes) के बारे में...

सुल्ताना (Sultana)

अमेरिका में सुल्ताना को आमतौर पर "थॉम्पसन सीडलेस" के रूप में जाना जाता है. यह किस्म कई देशों में भी उपलब्ध है जैसे कि इराक, ईरान, तुर्की आदि कहा जाता है कि सुल्ताना किस्म एशिया माइनर से उत्पन्न हुई थी.

कैसा होता हैं आकार और रंग

इसके अंगूर एक अंडाकार आकार के साथ हल्के हरे रंग के होते हैं और भारतीय बाजारों में इनका एक विशेष स्थान है. इन अंगूरों से बनी किशमिश चीनी में उच्च होती है.

किन राज्यों में उगाई जाती है

इस किस्म की खेती ज्यादातर भारत के उत्तरी भाग में की जाती है.

गुलाबी (Gulabi)

यह किस्म काफी अच्छी गुणवत्ता वाली होती है और इसका इस्तेमाल टेबल प्रयोजन के लिए किया जाता है. यह किस्म क्रैकिंग के प्रति संवदेनशील नहीं होती, लेकिन अगर बात करें, जंग और कोमल फफूंदी कि तो ये उसके प्रति अतिसंवेदनशील होती है.

कैसा होता हैं आकार और रंग

इस किस्म की बेरियां छोटे आकार वाली व गहरे बैंगनी रंग की होती जोकि गोलाकार और बीजदार होती है.

किन राज्यों में उगाई जाती है

इस किस्म को ज्यादातर तमिलनाडू में उगाया जाता है.

अनाब-ए-शाही (Anab-e-Shahi)

अनब-ए-शाही की शुरुआत 1900 के दशक में अब्दुल बेकर खान ने की थी. इस किस्म को ज्यादातर ताजा ही खाया जाता है और इसके बीज और त्वचा में एक अच्छा पोषण मूल्य होता है. आजकल, बाजार में प्रचार के कारण, किसान अधिक से अधिक थॉम्पसन बीज रहित और इसके उप प्रकारों की खेती कर रहे हैं. इसके परिणाम स्वरूप यह किस्म आने वाले समय में विलुप्त होने के कगार पर हैं.

कैसा होता हैं आकार और रंग

अनाब-ए-शाही किस्म का एक लंबा आकार होता है और इसके बीज सफेद रंग के होते हैं.

किन राज्यों में उगाई जाती है

यह किस्म शुरू में आंध्र प्रदेश राज्य में उगाई गई थी. इसके बाद में इस किस्म की खेती कुछ अन्य राज्यों जैसे- पंजाब, हरियाणा, तमिलनाडु आदि में हुई.

दिलखुश (Dilkhush)

इस किस्म को अनाब-ए-शाही के क्लोन के रूप में माना जा सकता है. इन दोनों किस्मों की विशेषताएं समान हैं.

कैसा होता हैं आकार और रंग

इसका एक लंबा आकार होता है और इसके बीज सफेद रंग हल्के हरे रंग के होते है.

किन राज्यों में उगाई जाती है

इसकी खेती कर्नाटक के अलावा कई अन्य राज्यों में होती है. इस किस्म की कटाई मार्च और अप्रैल की गर्मी के दिनों में की जाती है.

ये खबर भी पढ़े: किसानों को 1 लाख रूपए के निवेश पर मिलेगा 2 लाख रुपए तक का मुनाफा, करें इस तकनीक से खेती

English Summary: Varieties of Grapes: Know about these grape varieties that will give good profits in a short time

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News