MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. खेती-बाड़ी

इस फूल की देश में बढ़ी डिमांड, खेती से किसान होंगे मालामाल!

अगर आप फूलों की खेती करने का सोच रहे हैं तो ऐसे में आप जिप्सोफिला फूलों की खेती कर अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं. तो ऐसे में आपको बताते हैं कि कैसे आप कम निवेश में कमाई कर सकते हैं.

राशि श्रीवास्तव
जिप्सोफिला फूलों की खेती
जिप्सोफिला फूलों की खेती

फूलों की खेती से अगर कोई सालाना करोड़ों का मुनाफा कमाने की बात कहेतो शायद इस बात पर कोई यकीन नहीं करेगा. लेकिन एक फूल ऐसा भी है जो करोड़ों का मुनाफा दे सकता है. बाजार में महंगे बिकने वाले जिप्सोफिला के फूलों की खेती से इतना मुनाफा होने की संभावना है. शादियों के समय इस फूल की बिक्री ज्यादा बढ़ जाती है. जिप्सोफिला की खेती में खर्चा ज्यादा आता है लेकिन मुनाफा भी उतना ही ज्यादा होता है. ऐसे में जिप्सोफिला खेती मुनाफे का सौदा साबित हो रही है. बुआई के लगभग 35-50 दिनों के बाद ही फूल आना शुरू हो जाते हैंआइये जानते हैं खेती करने का तरीका

खेती के लिए सही समय

जिप्सोफिला की खेती के लिए सर्दी का मौसम सबसे सही माना जाता है. अक्टूबर में फसल की बुवाई उचित मानी जाती है. 

खेती के लिए उपयुक्त मिट्टी

जिप्सोफिला की खेती के लिए मिट्टी का तापमान 10-35°C होना चाहिए. पहले 8-10 दिनों के भीतर बीज अंकुरित हो जाएंगे और छोटे अंकुर दिखाई देंगे. दूसरे सप्ताह सेबीज एक छोटे जिप्सोफिला फूल के रूप में बढ़ने लगेंगे.  

बुवाई का सही तरीका

सबसे पहले नीचे की तरफ जल निकासी छेद के साथ अपनी पसंद का कंटेनर लें. कंटेनर के गमलों को 2 : 1 अनुपात के साथ मिट्टी में अच्छी गुणवत्ता वाली जैविक खाद के साथ भरें. एक गमले के केंद्र पर बीज बोएं. बीज को अपनी उंगलियों से मिट्टी के माध्यम में थोड़ा दबाएं और उन्हें आसपास की मिट्टी से पूरी तरह से ढकना चाहिए. फिर तत्काल बोये हुए बीज को किसी वाटरिंग कैन से पानी दें.

ऐसे करें पौधे की देखभाल 

सूरज की रोशनी- जिप्सोफिला फूल के पौधे को कम सूर्य की रोशनी की जरूरत होती है. इसलिए इन्हे कम चमकदार धूप में रखा जाना चाहिए.

पानी देने की तकनीक - गर्मियों में हर दिन जिप्सोफिला फूल के पौधे को पानी देंप्लांट को पानी देते समय यह सुनिश्चित कर ले की पानी प्लांट के ऊपर बौछार के रूप में करना है न की तेज धार के रूप में.

खाद डालना - बीज बोने से पहले 2 : 1 अनुपात के साथ मिट्टी में अच्छी गुणवत्ता वाली जैविक खाद डालें. जैविक खाद अच्छी तरह से सड़ी हुई गोबर की खादखेत की खादया वर्मीकम्पोस्ट हो सकती है.

सजावट - जब जिप्सोफिला फूल के पौधे 45 दिन से अधिक पुराने हो जायेतो प्रति पौधे 15:15:15 (एनपीके) उर्वरक का बड़ा चम्मच प्रदान करें या प्रत्येक पौधे के आसपास मिट्टी में मुट्ठी भर वर्मीकम्पोस्ट मिलाएं. 

ये भी पढेंः फूलों की खेती में चमकाएं भविष्य, इस फूल की खेती से होगा अच्छा मुनाफा

पत्तों की देखभाल - हमेशा किसी भी कीट/ फंगल/ किसी अन्य संक्रमण के शुरुआती लक्षणों की तलाश करें. ऐसी बीमारियों के किसी भी लक्षण के दिखते ही उचित दवाओं का छिड़काव करें.

English Summary: The demand for this flower has increased in the country, farmers will become rich by farming it! Published on: 15 February 2023, 11:41 AM IST

Like this article?

Hey! I am राशि श्रीवास्तव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News