1. खेती-बाड़ी

भूत झोलकिया मिर्ची का होश उड़ा देने वाला सच

भूत झोलकिया एक ऐसी मिर्च है जो सबसे तीखी और तेज़ है. इसका स्वाद अच्छों -अच्छों के कानों से धुंए निकाल दे. इसलिए इसे वही लोग खा सकते हैं जो तीखा खाने के शौकीन हैं.  भूत झोलकिया को कई नामों से भी जाना जाता है जैसे भूत मिर्च,यू-मोरोक, लालनागा, नागा झोलकिया आदि नामों से जाना जाता है. दुनियां की सबसे तेज मिर्च आसाम के अलावा नार्थ-ईस्ट राज्यों में मिलती है. इसके तीखेपन के कारण गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉडर्स में भी इसे शामिल किया गया है. भूत झोलकिया मिर्च में पाया जाने वाला ओलियोरेजिन तत्व ही इसका स्वाद तीखा करता है. अब यही तीखापन उपद्रवियों के खिलाफ इस्तेमाल होगा.

किन राज्यों में होती है इसकी खेती

भूत जोलोकिया मिर्ची आंध्र-प्रदेश,असम, नागालैंड और मणिपुर के पूर्वोतर भारतीय राज्यों में इसकी खेती की जाती है जो की एक अंतर विशिष्ट संकर मिर्च है.

उगाने की विधि


आपको सबसे पहले एक कटोरा लेना है उसमे 1/2 भाग पानी डाले फिर उसमे इसके बीजों को सारी रात भिगोने के लिए रख दें.

उसके बाद एक 4 इंच गमला लें उसके नीचे वाले भाग में छोटे -छोटे छेद कर दें ताकि फिर उसको 1/4 इंच तक मिटटी से भर दें,उसमे थोड़ा पानी मिलाएं ताकि मिटटी पानी को अपने अंदर ले लें, फिर मिटटी के बीच वाले भाग में इसके 3 बीज रखें.

इसके लिए पहले 75 डिग्री से 80 डिग्री तापमान होना चाहिए. अब इस में खाद मिलाये जिसमें पानी की मात्रा अधिक हो, और रोज़ाना 5 से 6 घंटे धुप लगवाए ताकि जिससे इसको पूरी मात्रा में पोषण मिलें. 

कश्मीर में बम बनाने के लिए हो रहा है इसका उपयोग

कश्मीर में पैलेट गन के स्थान लेने वाला पावा बम ग्वालियर के पास बीएसएफ की टियर स्मोक यूनिट में बनेगा. बीएसएफ ने इसे दुनिया की सबसे तीखी मिर्च, भूत झोलकिया से तैयार किया है. इसके प्रभाव से उपद्रवी अपने ही स्थान पर बिना हरकत किए कुछ देर के लिए खड़े रह जाएंगे. शरुआती दौर में ऐसे 5000 पावा बम बीएसएफकी टेकनपुर यूनिट में तैयार किए जाएंगे. ऐसे बनता है मिर्च से बम.

देश में सुरक्षा बलों और आर्मी के लिए (बीएसएफ)  की ग्वालियर, टेकनपुर स्थित टियर स्मोक यूनिट आंसू गैस के गोले बनाती हैं.यह टियर स्मोक के गोले उपद्रवियों को तितर-बितर करने के काम में आते हैं. इसी गोले में कुछ साल पहले बीएसएफ ने मिर्च का इस्तेमाल किया. इसके रिजल्ट भी अच्छे मिले, क्योंकि इससे किसी प्रकार का हानिकारक प्रभाव शरीर पर नहीं पड़ता है. इसकी तीव्रता केमीकल जितनी ही है.

ग्रेनेड बनाने में भी हो रहा है इसका उपयोग 

बीएसएफ ने तीखेपन के लिए भूत झोलकिया मिर्च का इस्तेमाल किया. भूत झोलकिया दुनिया की सबसे तेज मिर्च है. इस मिर्च का तीखापन इतना ज्यादा है कि हल्का सा स्वाद जीभ पर आते ही आदमी अजीब व्यवहार करने लगता है. इस मिर्च का पाउडर टियर स्मोक ग्रेनेड में इस्तेमाल किया जाता है. इसको उपद्रवियों के ऊपर दागते ही, आंख में बहुत तेज जलन होती है और दम घुटने लगता है. कुछ देर के लिए उपद्रवी अपने स्थान पर स्थिर हो जाते हैं और किसी प्रकार की हरकत नहीं कर पाते.

किन देशों में होता है निर्यात

चीन,अमेरिका जैसी कम्पनिया भारत से इसका निर्यात करवाती है इस तीखी मिर्च की देश -विदेश  दोनों में बड़ी मांग है. आने वाले समय में इसकी मांग और अधिक बढ़ जाएगी.

मनीशा शर्मा, कृषि जागरण

English Summary: Ghostly Jholkkiy Mirchi's Soul-Blattering Truth

Like this article?

Hey! I am . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News