आपके फसलों की समस्याओं का समाधान करे
  1. खेती-बाड़ी

राइस ट्रांसप्लांटर बदल रहा किसानों की किस्मत

किसानों के लिए नई तकनीकों के आविष्कार हो जाने से खेती करना काफी आसान हो गया है। सबसे जरूरी बात यह है कि जब भी देश मानसून का सीजन आता है वैसे ही धान की बुवाई शुरू हो जाती है। आजकल सरकार ने भी धान उगाने वाले किसानों के लिए कई तरह के स्कीम को चला रखा गया है। लेकिन कोई भी किसान कीचड़ में और गीले पानी में कार्य नहीं करना चाहता है। इसीलिए लोगों ने इस समस्या से निपटने के लिए एक विकल्प निकाला है धान रोपने वाली मशीन। सबसे पहले इस मशीन की खोज जापान में हुई थी बाद में भारत के पंजाब में सबसे पहले इसका प्रयोग हुआ था।

ये है मशीन की बनावट :

धान रोपने के लिए जो मशीन बनी हुई है उसकी बनावट काफी ज्यादा सरल है। इसके धान बुवाई मशीन के कुल तीन भाग होते है धान के पौधे को पकड़ने वाली चिमटी, धान को सीधा रखने वाला बॉक्स और तीसरा है बॉक्स को सहारा देने वाला चौखटा। ये सभी भाग लकड़ी और बांस के बने होते है। इनके पौधे को पकड़ने वाली चिमटी के भी तीन भाग होते है- पकड़ने वाले दांत, दाहिना और बांया मूठ के ऊपर और नीचे वाले पतवर तख्ते।

धान रोपने वाली मशीन के लाभ :

1. प्रतिरोपण मशीन से रोपाई जल्दी और ठीक समय पर होती है.

2. इससे मानव श्रम की बचत और पैदावार में वृद्धि होती है.

3. धान का पौधा सामांतर पक्तियों में बोया जाता है.

4. घास को साफ करने में काफी सहायक होती है.

5. ये ठीक तरीके से धान को बराबर भागों में लगाने का कार्य करती है.

अलग-अलग तरह के प्लांटर :

तो आइए जानते है क्या है धान को रोपने वाले अलग-अलग तरह के प्लांटरों के बारे में जानकारी :

1. जापानी पैडी प्लांटर

2. सेल्फ प्रोपेल्ड मशीन

3. महिंद्रा एंड महिंद्रा पैडी प्लांटर

4. आरसी एग्रो पैडी प्लांटर

मशीन की कीमत :

वैसे तो अलग-अलग तरह के पैडी प्लांटर मशीन उपलब्ध है जिनका प्रयोग खेती में किया जाता है। इस राइस ट्रांसप्लांटर की कीमत 2 लाख रूपये से शुरू होकर 2.50 लाख रूपए तक की है। ज्यादातर कंपनियों का रेट भी इसी तरह आसपास बना हुआ है।

मशीन खरीदने के लिए संपर्क करें :

धान रोपने की मशीन यदि कोई भी किसान खरीदना चाहता है तो उसको सबसे पहले स्थानीय डीलर के साथ संपर्क स्थापित करना चाहिए। इसके अलावा वह धान खरीदने वाली मशीन के लिए महिंद्रा एंड महिंद्रा के डीलर से भी संपर्क कर सकते है। भारत में कई और तरह के ब्रांड भी इस तरह की अन्य मशीनों को बनाते है। इसके अलावा किसान खुद आसपास क्षेत्रीय कार्यालय में जाकर स्वयं डीलरों से संपर्क कर सकते है।

सब्सिडी के बारे में जानकारी :

भारत में कई तरह के कृषि यंत्र है जो कि अलग-अलग तरह से कार्यों के लिए प्रयोग किए जाते है। खेती में प्रयोग किए जाने वाले यंत्र चूंकि काफी ज्यादा किफायती होते है इसीलिए कुछ किसानों के लिए मंहंगे कृषि यंत्र खरीदना काफी ज्यादा मुश्किल होता है। इसीलिए कई राज्य और केंद्र सरकार इसे किफायती दरों पर किसानों को उपलब्ध करवाने के लिए अलग-अलग तरह की सब्सिडी को प्रदान करती है। सब्सिडी की राशि से किसानों को कृषि यंत्र खरीदने में अधिक सुलभता मिलती है। सरकार धान रोपने की मशीन पर भी अलग-अलग कैटेगरी के हिसाब से सब्सिडी को प्रदान करती है :

ये है राइस ट्रांस प्लांटर सब्सिडी :

 

 

 

 

   स्वाचलित राइसट्रांसप्लांटर

 

 

अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, छोटे और सीमांत किसान, महिलाएं तथा उत्तर पूर्वी राज्यों के लाभार्थियों के लिए

 

 

 

प्रति मशीन उपकरण अधिकतम स्वीकार्य अनुदान
(सब्सिडी)

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

सहायता

राशि प्रतिशत में

अन्य तरह के लाभार्थियों के लिए

 

 

 

 

 

 

प्रति मशीन उपकरण अधिकतम स्वीकार्य अनुदान

(सब्सिडी)

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

सहायता

राशि प्रतिशत में

 

1. 4 पंक्तियों वाला पैडी ट्रांसप्लांटर

 

 

  94,000/-

 

50%

 

75,000/-

 

40

 

2. 4 पंक्तियों से 8 पंक्तियों वाला राइस ट्रांसप्लाटर   

 

8 पंक्तियों से अधिक एवं 16 पंक्तियों वाला राइस ट्रांसप्लांटर

 

 

 

 2,00,000/-

 

 

40%

 

 

2,00,000/-

 

 

40

जापानी मशीन का दे रहे डेमो

जापानी पैडी प्लांटर मशीन बेहद ही खास है। दरअसल इस प्लांटर से मात्र 1 लीटर पेट्रोल से महज डेढ़ घंटे में धान की रोपाई भी की जा सकेगी। इस मशीन की दूसरी खास बात यह है कि अकेला किसान की इस मशीन को चला सकता है। इस खास मशीन के बारे में जानने के बाद मध्य प्रदेश की सरकार भी पैडी प्लांटर मशीन के जरिए धान की रोपाई करने को बढ़ावा देने के लिए खास योजना भी बनाई है। मध्य प्रदेश के कृषि विभाग द्वारा इस मशीन का डेमो भी दिया जा रहा है। दरअसल मध्य प्रदेश के कृषि विभाग द्वारा मिली जानकारी के मुताबिक अभी पैडी प्लांटर की कीमत 2 लाख 50 हजार रूपये के करीब है। राज्य की सरकार इस मशीन को किसानों को आसानी से उपलब्ध करवाने के लिए 1 लाख 44 रूपये तक की सब्सिडी देगी।

निजी समीक्षा

ऐसे वक़्त में जब दुनिया में कृषि में नई-नई आधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल होने लगा है तो इसकी सहायता से मानव श्रंम की लागत को कम करने में तो सहायता मिली ही है साथ ही साथ खेती में नई तकनीकों के आने से किसानों को काफी ज्यादा सुलभता हो गई है। धान रोपने की मशीन या राइस ट्रांसप्लांटर एक ऐसी मशीन है जो कि किसानों को कम समय में ज्यादा फसल लगाने के लिए बेहतर विकल्प है। जो किसान ठीक तरीके से धान की फसल की निढ़ाई, गुड़ाई और रोप नहीं पाते है वह आसानी से इस मशीन की सहायता से क्रमवार धान की फसल को लगा सकते है। इसीलिए ज्यादा से ज्यादा किसानों को यह मशीन खरीदने का प्रयास करना चाहिए।

किशन अग्रवाल, कृषि जागरण

English Summary: Fishermen's fate changing Rice Transplanter

Like this article?

Hey! I am . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News